पहले चर्चा की मांग, फिर हंगामा….. यह विपक्ष का दिखावा है: सीतारमण

नई दिल्लीः वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को राज्यसभा में कहा कि विपक्षी सदस्य पहले चर्चा की मांग करते हैं फिर सरकार के तैयार होने के बावजूद चर्चा नहीं करते और फिर सरकार पर ही चर्चा से भागने का आरोप लगाते हैं। उन्होंने कहा ‘‘पहले चर्चा की मांग, फिर हंगामा…. यह विपक्ष का दिखावा है।” यह टिप्पणी वित्त मंत्री ने उच्च सदन में आज उस वक्त की जब ‘‘पेट्रोलियम उत्पादों सहित आवश्यक वस्तुओं के दाम में वृद्धि की वजह से देश में उत्पन्न हालात” पर नियत अल्पकालिक चर्चा विपक्षी सदस्यों के हंगामे की वजह से शुरू नहीं हो पाई। विपक्षी सदस्य 12 निलंबित सदस्यों का निलंबन वापस लिए जाने की मांग को लेकर हंगामा कर रहे थे।

सदन में मौजूद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा ‘‘यह विषय उन्होंने (विपक्ष ने) तय किया था। विपक्ष इस पर चर्चा करना चाहता था और सरकार चर्चा के लिए तैयार है। वे लोकतंत्र की बात करते हैं और हम उनके विषय पर चर्चा के लिए तैयार हैं। क्या यह लोकतंत्र और सदन की भावना नहीं है ?” उन्होंने कहा ‘‘हम चर्चा से भाग नहीं रहे हैं। विषय तय कर वह (विपक्ष) चर्चा नहीं कर रहे हैं, और फिर हम पर आरोप लगाया जाता है कि सरकार चर्चा से भाग रही है। हम चर्चा चाहते हैं, महंगाई पर चर्चा चाहते हैं। लेकिन आप देख रहे हैं। पहले चर्चा की मांग, फिर हंगामा….. यह विपक्ष का दिखावा है।” वित्त मंत्री का इशारा आसन के समक्ष आ कर नारेबाजी कर रहे विपक्षी सदस्यों की ओर था।