मिल गया लखनऊ से गायब फाइटर प्लेन मिराज का टायर, युवक बोला- ट्रक का पहिया समझ कर ले गया था

लखनऊ: राजधानी ​लखनऊ के आशियाना थाना क्षेत्र के शहीद पथ से बीते दिनों गायब हुए फाइटर प्लेन मिराज का टायर आखिरकार मिल गया है। जिन लोगों ने इस पहिए को चुराया था, उन्होंने ही इसे लौटा दिया है। इस टायर को दीपराज और हिमांशु नाम के युवक ले गए थे। युवकों का कहना है कि उन्हें नहीं पता था कि ये पहिया मिराज का है। हम इसे ट्रक का पहिया समझकर ले गए थे। हालांकि, टायर मिलने के बाद अभी भी आगे की कानूनी कार्रवाई जारी है। ड्राइवर और क्लीनर के अनुसार जब घर पहुंचकर उन्होंने देखा तो यह ट्रक के टायर से भिन्न था। अगले दिन समाचारपत्रों में खबर देखी तो डर गए। इसके बाद खुद टायर ले जाकर एयरफोर्स अधिकारियों के सपुर्द कर दिया।

इस मामले में लखनऊ के आशियाना थाने में ट्रक ड्राइवर हेम सिंह रावत ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था। लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की ओर से बयान जारी कर चोरी हुए टायर के मिलने की पुष्टि की गई है। बयान जारी कर बताया गया है कि बीकेटी एयरफोर्स स्टेशन पर इस टायर को 2 युवकों ने अधिकारियों को सौंप दिया है। ये टायर शहीद पथ के किनारे से चोरी हो गया था। इस मामले में 1 दिसंबर को केस दर्ज किया गया था। इस टायर को दीपराज और हिमांशु नाम के युवकों ने शहीद पद से उठा लिया था। दीपराज, हिमांशु का फूफा लगता है।

दोनों ने बताया कि 26 नवंबर की रात 10:30 से 10:45 के बीच शहीद पथ पर एक टायर मिला था, जिसे वो लोग ट्रक का टायर समझकर घर ले आए थे। उन्होंने बताया कि बाद में 3 दिसंबर को उन्होंने न्यूज में देखा कि मिराज का पहिया चोरी हो गया है। न्यूज में शहीद पथ की घटना ही बताई गई थी, इसलिए उन्हें लगा कि ये वही टायर है। ये टायर भी थोड़ा अलग था। जिसके बाद दोनों ने इस टायर को वायुसेना को सौंप दिया है।

डीसीपी ईस्ट अमित कुमार ने बताया था कि ये ट्रक लखनऊ के बख्शी तालाब एयरबेस से सामान अजमेर जा रहा था। ये ट्रक मिराज फाइटर प्लेन के 5 पहिए लेकर अजमेर जा रहा था, लेकिन इसमें से एक पहिया गायब था। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में धारा 379 के तहत मामला दर्ज कर लिया था। पुलिस युवकों से पूछताछ कर रही है।