रायपुर में शातिर दलालों ने फर्जी आरसी बुक के जरिए बेच दी 19 लाख की कार

रायपुर। राजधानी में फर्जी आरसी बुक तैयार कर मर्सिडीज कार बिक्री करने वाले दलालों का पर्दाफाश हुआ है।माना थाना पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने एशियाटिक मोटर्स के संचालक नितिन कृष्णानी सहित दो अन्य पर 19 लाख रुपये की धोखाधड़ी का अपराध कायम किया है। आरोपित पुलिस की गिरफ्त से फरार हैं।

माना कैंप थाने में सपन मंडल ने धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। सपन ने बताया कि आरोपितों ने फर्जी आरसी बुक के जरिए मर्सिडीज कार बेच कर 19 लाख रुपये एंठ लिए। उसे धोखाधड़ी का एहसास नौ महीने के बाद मर्सिडीज को 18 लाख 50 हजार रुपये में बेचने के बाद लुधियाना क्राइम ब्यूरो से नोटिफिकेशन आने के बाद हुआ। सपन ने इसके बाद माना थाना पहुंच कर एशियाटिक मोटर्स के मालिक सहित दो अन्य के खिलाफ अपराध कायम करने के लिए प्राथमिकी दर्ज कराई। मामला दर्ज करने के बाद आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छानबीन मेंं जुटी है।

यह है मामला

सपन ने मर्सिडीज खरीदने के बाद अमन मल्होत्रा को बेच दिया था। जिसने लुधियाना के सत्येंद्र सिंह चहल को गाड़ी बेच दी थी।सत्येंद्र ने नाम ट्रांसफर के लिए आनलाइन जानकारी जुटाई, तब पता चला कि वाहन की आरसी बुक फर्जी है। वाहन मालिक ने डेलमर फाइनेंशियल कंपनी सर्विस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से फाइनेंस कराया है। जिसकी लाखों रुपये की किश्त नहीं पटाई गई है। इसकी जानकारी मिलते ही सत्येंद्र सिंह ने फाइनेंशियल क्राइम लुधियाना में सपन मंडल के विरुद्ध शिकायत दर्ज करवाई। वहां से आए नोटिफिकेशन के बाद सपन को धोखाधड़ी की जानकारी हुई।