कांग्रेस का आरोप, केंद्र की साजिश में छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता भी शामिल

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के तमाम दुष्प्रचार और केंद्र की भाजपा सरकार के असहयोग और अड़ंगेबाजी के बावजूद छत्तीसगढ़ में धान खरीदी प्रगति पर है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि प्रदेश भर के दो हजार 463 खरीदी केंद्रों में धान खरीदी चालू है। अभी तक लगभग 14 लाख छह हजार किसानों ने अपना धान बेच दिया है। भाजपा धान खरीदी के मामले में केवल झूठी बयानबाजी कर भ्रम फैलाने का काम कर रही है। आखिर क्या कारण है कि केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ से उसना चावल नहीं ले रही है। जबकि राज्य में पैदा होने वाले कुल धान का 45 प्रतिशत उसना किस्म का है।

शुक्ला ने कहा कि केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ को बारदाने देने में भी असहयोग कर रही है। राज्य को धान खरीदी के लिए पांच लाख 25 हजार गठान बारदाने की आवश्यकता है। इस वर्ष केंद्र ने 2.14 लाख गठान बारदानों की स्वीकृति दी है। जिसका एडवांस पैसा जमा करने के बाद भी छत्तीसगढ़ को अभी मात्र 86 हजार 856 गठान बारदाने ही दिए गये है। भाजपा नेता उसना और बारदाने मामले में केंद्र से राज्य के हितों पर बात नहीं कर रहे। भाजपा नेताओं के बयानबाजी से स्पष्ट हो रहा कि केंद्र की साजिश में छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता भी शामिल है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि पूरे देश मे अरवा चावल ही पीडीएस में जाता है। जिसकी डिमांड हो वही बनाना चाहिए। यदि नहीं तो छत्तीसगढ़ सरकार यहां पीडीएस में उसना चावल दे के देख ले।