मध्य प्रदेश में शुरू हुआ 18 से ऊपर उम्र वालों का टीकाकरण

भोपाल। 18 से 44 साल तक के लोगों के लिए आज से मध्य प्रदेश में कोरोना से बचाव का टीकाकरण शुरू हो गया है। मध्य प्रदेश के हर जिले में जिला मुख्यालय स्तर पर एक हायर सेकेंडरी स्कूल को टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। इस तरह 52 जिलों में 52 केंद्रों में पहले दिन आज 5200 लोगों को टीका लगाया जाएगा। इसका मतलब है कि एक दिन में एक केंद्र पर 100 लोगों को टीका लगेगा। छह मई को इतने ही टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे। टीकाकरण सुबह 9 बजे से शुरू हो गया है, जो शाम 5 बजे तक चलेगा। टीका लगवाने के लिए पंजीयन के दौरान कोविन पोर्टल से आया मैसेज दिखाना होगा। इसके अलावा वह परिचय पत्र भी दिखाना होगा, जिसका आईडी नंबर पंजीयन के दौरान पोर्टल में दर्ज किया गया है। संक्रमण से बचाव के लिहाज से अस्पताल की जगह स्कूल को केंद्र बनाया गया है।

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि आठ और 10 मई को हर दिन 208 सत्र आयोजित किए जाएंगे। यानी एक जिले में चार केंद्र होंगे। इसके बाद 12, 13 व 15 मई को हर दिन प्रदेश में 320 केंद्रों पर टीकाकरण होगा। एक केंद्र पर एक दिन में 100 हितग्राहियों को टीका लगाया जाएगा। इसे ही एक सत्र कहा गया है। इस तरह 15 मई तक 18 से 44 साल के एक लाख 48 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है।

टीकाकरण कराने के लिए इन बातों पर ध्यान दें

– 18 से 44 साल वालों में सिर्फ उन्हें ही टीका लगेगा, जिनका जन्म एक मई 2003 के पहले हुआ है।

– इन्हें पहले से पंजीयन कराने पर ही टीका लगेगा। पंजीयन केंद्र में पहुंचे बिना टीका नहीं लगेगा।

– टीका नि:शुल्क लगाया जाएगा।

– पांच से 15 मई के बीच सभी केंद्रों पर 18 से 44 साल तक के लोगों को को-वैक्सीन की डोज लगाई जाएगी।

– पंजीयन के लिए सबसे पहले केविन पोर्टल selfregistration.cowin.gov.in पर क्लिक करें।

– अपना मोबाइल नंबर दर्ज कराएं।

– इस नंबर पर दो से तीन मिनट के भीतर ओटीपी आएगा। इसे दर्ज करें।

– इसके बाद पिन कोड नंबर डालकर या जिले का चयन कर नजदीकी टीकाकरण केंद्र खोज सकते हैं।

– केंद्र चुनकर दिन और समय चयन करने के बाद कंफर्म करने पर स्लॉट बुक हो जाता है।

– जिन्होंने पहले से पंजीयन करा लिया है उन्हें स्लॉट बुक करने के लिए पोर्टल में रीशेड्यूल विकल्प का चयन करना होगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.