दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, पिछले 24 घंटे में आए 23,686 नए मामले, 240 की मौत

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान भी कोरोना वायरस के मामलों में भारी वृद्धि जारी रही और इस दौरान 23,000 से अधिक नये मामले सामने आये तथा 240 और मरीजों की मौत हुई जबकि सक्रिय मामले 1,900 से अधिक और बढ़कर 76,000 के पार पहुंच गए। दिल्ली में सोमवार को सक्रिय मामले 1,946 और बढ़कर 76,887 पहुंच गये। राजधानी में नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में कमी होने से सक्रिय मामलों में यह वृद्धि दर्ज की गई है।
PunjabKesari
दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की ओर से आज जारी बुलेटिन के अनुसार इस अवधि में 23,686 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 8,77,146 तक पहुंच गई है जबकि 21,500 और मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना मुक्त लोगों की संख्या बढ़कर 7,87,898 हो गई। राजधानी में मरीजों के स्वस्थ होने की दर आज आंशिक रूप से घट कर 89.82 फीसदी पर आ गई। इस दौरान 240 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 12,121 पर पहुंच गया। राजधानी में मृत्यु दर महज 1.41 फीसदी रह गई है।

मृतकों के मामले में देशभर में दिल्ली चौथे स्थान पर है। राजधानी में पिछले 24 घंटों के दौरान 90,696 नमूनों का परीक्षण किया गया। इसके साथ ही अब तक हुई जाँच संख्या बढ़कर 2.61 करोड़ के पार पहुंच गई है। प्रत्येक 10 लाख आबादी पर जाँच का औसत 8,58,879 है। इस बीच राजधानी में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या बढ़ कर 15,039 पहुंच गई है।

दिल्ली में छह दिन के लिए लॉकडाउन
दिल्ली में सोमवार को छह दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई, जो आज रात दस बजे से शुरू होकर 26 अप्रैल तड़के पांच बजे खत्म होगा। इस दौरान किन कामों की अनुमति होगी और किस की नहीं, आइए जानते हैं: किन्हें छूट रहेगी?

केन्द्र सरकार द्वारा लागू पाबंदियों के अनुसार भारत सरकार, उसके स्वायत्त या अधीनस्थ कार्यालयों और पीएसयू के अधिकारियों को वैध पहचान पत्र दिखाने पर आने-जाने की छूट होगी। दिल्ली सरकार के कार्यालय, स्वायत्त निकाय, निगम बंद रहेंगे, हालांकि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और सभी संबंधित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान खुले रहेंगे। पुलिस, जेल, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, अग्निशमन एवं आपात सेवाएं, जिला प्रशासन, भुगतान एवं लेखा कार्यालय एवं सेवाएं, सामान्य प्रशासन विभाग, जल एवं स्वच्छता, सार्वजनिक परिवहन (वायु, रेलवे, दिल्ली मेट्रो) आदि सेवाओं का संचालन जारी रहेगा।

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के चलते एम्स-दिल्ली की ओपीडी 22 अप्रैल से बंद  
कोविड-19 के मामलों में वृद्धि बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने अपनी भौतिक ओपीडी सेवा को बंद करने और सामान्य मरीजों को भर्ती करने संबंधी सेवा को स्थगित करने का फैसला किया है, जिससे कि वायरस के प्रसार को रोका जा सके और संसाधनों को कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों के उपचार में लगाया जा सके। एम्स प्रशासन ने सोमवार को एक बयान में कहा कि बृहस्पतिवार, 22 अप्रैल से भौतिक ओपीडी सेवा, विशेषज्ञता क्लिनिक और सभी केंद्रों में रोगियों की भौतिक परामर्श सेवा को अस्थायी रूप से बंद कर टेली परामर्श सेवा पर जाने का निर्णय किया गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.