प्रधानमंत्री बनना चाहती हैं बसपा सुप्रीमों मायावती

चुनाव नतीजे आने से एक दिन पहले यानि 22 मई को  बहुजन समाजवादी पार्टी की नेता मायावती ने यह इच्छा जताई है कि वह प्रधानमंत्री बनना चाहती हैं। सूत्रों के मुताबिक  मायावती ने यह इच्छा महागठबंधन के उन नेताओं से जाहिर की जो बीजेपी को दिल्ली  से दूर रखना चाहते हैं।  मायावती चाहती हैं कि बीजेपी को फ्रंट में आने से रोकने के लिए सभी विपक्षी  दलों को एक साथ आना होगा। बीजेपी को फ्रंट में आने से रोकने के लिए
टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू और एनसीपी प्रमुख शरद पवार लगातार कोशिश में लगे हैं।

आपकों बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 का पहला चरण 11 अप्रैल से शुरू  हुआ था और 19 मई को सातवां चरण संपन्न हुआ । जिसके नतीजे 23 मई यानि  आज आने हैं। मतों की गणना सुबह 8 बजे से शुरू होगी और देर रात तक अंतिम  परिणाम पता चल जाएगा। उपचुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने आजतक से बातचीत में कहा कि इस बार मतगणना में थोड़ा ज्यादा समय लग सकता है क्योंकि  इस बार इवीएम के वोटों का वीवीपैट से मिलान किया जाना है।

ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर विपक्ष लगातार शिकायत कर रहा था जिसके चलते  वीवीपैट की संख्या बढ़ाई गई और इस बार ईवीएम के साथ वीवीपैट  को भी लगाया गया जिससे वोट डालने पर पर्ची भी निकली है। ऐसे में जब 23 मई को वोटों की गिनती की जाएगी तो ईवीएम में पड़े वोटों से पर्चियों का मिलान भी किया जाएगा जिसके वजह से परिणाम आने में 4 -5 घंटे देरी हो  सकती है।

गृहमंत्रालय ने सभी राज्यों में हाई एलर्ट जारी कर दिया है क्योंकि ऐसी  आंशंका है कि किसी प्रकार की अप्रिय घटना हो सकती है। सभी अप्रिय घटना से  समय पर निपटा  जा सके इसके लिए पहले से पूरी तैयारियां कर ली गई हैं।