बुजुर्ग वोटर्स को तीर्थयात्रा करवाएंगे CM केजरीवाल, खुद भी जाएंगे साथ

नई दिल्ली: बुजुर्ग एवं वृद्ध तीर्थयात्रियों के साथ आम आदमी पार्टी के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 20 जुलाई को माता वैष्णो देवी के दर्शन करने जाएंगे। इस यात्रा में केजरीवाल अकेले नहीं होंगे बल्कि उनका पूरा परिवार और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तथा उनका पूरा परिवार भी साथ रहेगा। केजरीवाल ने गुरुवार को यहां यह घोषणा करते हुए कहा कि वह तथा सिसोदिया अपने-अपने परिवारों के साथ वैष्णो देवी की तीर्थ यात्रा में बुजुर्गों के साथ शामिल होंगे जो दिल्ली से 20 जुलाई को रवाना होंगे।
PunjabKesari
केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय सभागार में ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना’ के तहत चयनित स्वर्ण मंदिर-वाघा सीमा-आनंदपुर साहिब कॉरिडोर की 12 जुलाई तथा वैष्णो देवी-जम्मू कॉरिडोर की 20 जुलाई से शुरू होने वाले यात्रियों के साथ बातचीत के दौरान यह घोषणा की। राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत, समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम और तीर्थ यात्रा समिति के अध्यक्ष कमल बंसल भी इस अवसर पर मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने सभागार में इकट्ठे वरिष्ठ नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली के सभी बुजुर्ग नागरिकों से, मैं कहना चाहता हूं, आप का यह पुत्र आपको अपने जीवनकाल में कम से कम एक तीर्थ यात्रा पर जरूर भेजेगा।

दरअसल दिल्ली सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना शुरू की है जिसके तहत वह दिल्ली के बुजुर्गों को मुफ्त में तीर्थ यात्रा करवा रही है। इस यात्रा के तहत पहला जत्था 12 जुलाई को दिल्ली से अमृतसर-बाघा बॉडर्र और आनंदपुर साहिब जाएगा। इसके बाद 20 जुलाई को दूसरा जत्था माता वैष्णों देवी जाएगा। केजरीवाल ने तीर्थ यात्रा में जाने वाले पहले जत्थे के श्रद्धालुओं से गुरुवार को मुलाकात भी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि अपने हिंदू धर्म में कहा जाता है कि बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा कराना सबसे बड़ा पुण्य होता है और हर बुजुर्ग की यह तमन्ना होती है कि अपनी जिंदगी में एक जगह पर तीर्थ यात्रा करने वह जरूर जाए। तो 12 जुलाई को पहली ट्रेन जा रही है और 20 जुलाई को माता वैष्णो देवी दूसरी ट्रेन जाएगी।