वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा ऐलान, बैंकिंग परीक्षा में किया ये बदलाव

नई दिल्लीः  कई बार ऐसा होता है कि बैंक का पेपर स्थानीय भाषा में ना होने के कारण कई उम्मीदवार बैंकिंग का पेपर नहीं दे पाते थे लेकिन अब बैंकिग की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए है बड़ी खुशखबरी और इस खुशखबरी का ऐलान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया है कि अब से बैंकिंग परीक्षा का आयोजन स्थानीय भाषाओं में भी किया जाएगा।। उन्होंने लोकसभा में कहा था कि दक्षिण भारत राज्यों के सांसदों की मांग है कि बैंक भर्ती की परीक्षा स्थानीय भाषाओं में भी कराई जाए। अब उनकी मांग को मान लिया गया है।

जानकारी मुताबिक कांग्रेस के सांसद जी सी चंद्रशेखर ने सबसे पहले ये मुद्दा गुरुवार को राज्यसभा में शून्य काल के दौरान उठाया था। जहां उन्होंने कन्नड़ भाषा में बोलते हुए कहा “भारतीय बैंकिंग सेवा परीक्षा और अन्य भर्ती परीक्षाएं स्थानीय उम्मीदवारों की सुविधा के लिए अंग्रेजी और हिंदी के साथ-साथ स्थानीय भाषा में आयोजित होनी चाहिए है। जिसकी वजह से परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को आसानी हो।

चंद्रशेखर द्वारा उठाई गई चिंताओं पर प्रतिक्रिया देते हुए, सीतारमण ने कहा कि लोकसभा के सांसदों ने भी इस मुद्दे पर बैठक की थी। उन्होंने आश्वसान दिया था कि इम मामले में वह कोई न कोई कदम लेगी। वहीं आज उन्होंने ऐलान किया अब 13 स्थानीय भाषाओं में बैंकिंग परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। यह परीक्षा पहले हिंदी और अंग्रेजी भाषा में ही होते थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.