नकली US Dollar को असली बनाने का दे रहा था झांसा, ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

0
62

इंदौर। अन्नापूर्णा थाना पुलिस ने मंगलवार शाम टेंट व्यवसायी की शिकायत पर विदेशी नागरिक को गिरफ्तार किया है। उसे स्वीडन की महिला ने एजेंट बनाकर व्यवसायी के पास नकली डॉलर लेकर भेजा था। केमिकल वॉश के जरिए ठग ने नकली को असली डॉलर बनाने का झांसा दिया था। टेंट व्यवसायी की फेसबुक के जरिए विदेशी महिला से दोस्ती हुई थी। तीन महीने से दोनों वाट्सएप पर चेटिंग कर रहे थे। गरीब होने की जानकारी लगने पर महिला मित्र ने उसे यूएस करंसी भेजी थी।

टीआई सतीश द्विवेदी के अनुसार, आरोपित बैंडिध डिस्को निवासी नई दिल्ली को गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ इंदिरा गांधी नगर निवासी टेंट व्यवसायी सुभाष (73) पिता विलायत राज लांबा ने शिकायत की थी। सुभाष ने बताया था कि उससे मिलने साउथ अफ्रीका निवासी बैंडिध आया है। वह अपने साथ एक लाख यूएस डॉलर (70 लाख रुपए) लेकर आया है। आरोपित ने बताया है कि डॉलर असली नहीं है। असली बनाने के लिए उन्हें केमिकल से धोना पड़ेगा। केमिकल की कीमत करीब 25 हजार रुपए है जो कि दिल्ली में मिलता है। वह रुपए की मांग कर रहा था। लेकिन रुपए देने के बजाय व्यवसायी थाने पहुंच गया और पूरी घटना बताई।

इस पर टीआई ने थानेदार तौसिफ अली सहित अन्य पुलिसकर्मियों को व्यवसायी के घर भेजा। जिससे केस दर्ज होने तक विदेशी नागरिक पर नजर रखी जा सके। पुलिस ने व्यवसायी की शिकायत पर ठग के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। उधर, केस दर्ज होते ही व्यवसायी के घर के बाहर खड़ी पुलिस ने दबिश देकर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

चार महीने पहले हुई थी महिला से दोस्ती

व्यवसायी ने बताया कि करीब चार महीने पहले फेसबुक के जरिए स्वीडन निवासी मारिया रिची नामक महिला से दोस्ती हुई थी। तीन महीने से दोनों वाट्सएप पर चेटिंग कर रहे थे। बातचीत के दौरान उसने महिला को बताया था कि वह अमीर नहीं है। इस पर उसने एजेंट के जरिए उसे एक लाख डॉलर भेजने का वादा किया था। उसने कहा था कि उसका एजेंट दिल्ली में रहता है। वह उससे संपर्क करेगा। एजेंट (बैंडिध) ने उससे कुछ दिन पहले संपर्क किया और डॉलर लेकर इंदौर आने का जिक्र किया था।

इलाज के लिए सात वर्षों से भारत आ रहा

आरोपित एजेंट ने बताया कि उसे सड़क हादसे में चोट लग गई थी। वर्ष 2012 से इलाज के लिए भारत आता रहता है। वह दिल्ली में अपने दोस्तों के साथ रुकता है। करीब आठ दिन पहले मारिया रिची ने उससे संपर्क किया था। इसके बाद वह डॉलर लेकर मंगलवार सुबह ट्रेन से इंदौर आया था। टेंट व्यवसायी उसे स्टेशन पर रिसीव करने आया था। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि वह नाइजीरिया का रहने वाला है। जबकि उसके पास साउथ अफ्रीका का पासपोर्ट मिला है। आरोपित के पास से दो मोबाइल और दो हजार रुपए बरामद हुए हैं। आरोपित अभी कई बातें छिपा रहा है। पुलिस उसे बुधवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here