गैस कटर से ATM काट रहे थे बदमाश, पुलिस आई तो फायरिंग कर भागे

भोपाल। परवलिया इलाके में सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात को आधा दर्जन बदमाशों ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के एटीएम को गैस कटर से काटकर कैश उड़ाने की कोशिश की। एटीएम बूथ का शटर बंद देख गश्त कर रही पुलिस को गड़बड़ी की आशंका हुई। पुलिस के मौके पर पहुंचते ही अंधेरे में खड़े बदमाशों ने फायरिंग की और मौके से फरार हो गए। एटीएम में उस वक्त 13 लाख रुपए नकद रखे थे, जो सुरक्षित मिल गए हैं। पुलिस ने मौके से गैस सिलेंडर,गैस कटर बरामद किया है।

पुलिस का दावा है कि इस मामले में अहम सुराग मिल गए हैं। पुलिस के मुताबिक नेशनल हाईवे पर एचपी पेट्रोल पंप के पास ही एसबीआई का एटीएम है। सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात डायल-100 की वैन गश्त के दौरान एटीएम चेक कर रही थी। इस दौरान पेट्रोल पंप के पास बने एटीएम बूथ का शटर बंद दिखने पर पुलिस को गड़बड़ी की आशंका हुई।

पुलिस वैन से एएसआई हेमंतसिंह, सिपाही बलराम और चालक जितेंद्र उतरकर एटीएम की तरफ बढ़े, तभी एटीएम के पास अंधेरे में खड़े बदमाशों के बूथ में मौजूद साथियों को सतर्क करने के लिए हवा में दो फायर कर दिए। फायरिंग होते ही बूथ का शटर उठा कर बदमाश खेत के रास्ते से भाग निकले। घटना की सूचना मिलते ही रात की गश्त कर रहे सीएसपी निशातपुरा लोकेश सिन्हा, एएसपी क्राइम निश्चल झारिया, एएसपी दिनेश कौशल, एसडीओपी दीपक नायक, परवलिया टीआई आरके मिश्रा, कोहेफिजा टीआई अमरेश बोहरे वहां पहुंचे। इलाके की नाकाबंदी भी की गई, लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिला।

एएसपी दिनेश कौशल ने बताया कि बदमाश एटीएम का एक तरफ का हिस्सा काटने में कामयाब भी हो गए थे, यदि पुलिस को पहुंचने में थोड़ी देर हो जाती, तो वे लोग कैश ले भागते।

परवलिया में एटीएम ब्रेक के लिए बदमाश पूरी तैयारी से पहुंचे थे। बूथ में घुसते ही उन्होंने सबसे पहले वहां लगे सीसीटीवी कैमरे पर कोई तरल पदार्थ स्प्रे कर दिया था,ताकि उनकी करतूत कैमरे में कैद न हो सके। वारदात को पूरी सफाई से अंजाम दिया जा रहा था,लेकिन बंद शटर से उठते हुए धुएं को देखकर गश्त कर रही पुलिस को गड़बड़ी की आशंका हुई,जो सच साबित हुई।

एएसपी दिनेश कौशल ने बताया कि एटीएम लूटने पहुंचे बदमाश काफी शातिर थे और पूरी तैयारी के साथ आए थे। उन्होंने एटीएम काटने के लिए छोटे ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ 5 किलो की क्षमता वाले कुकिंग गैस सिलेंडर का इस्तेमाल किया था। रैकी करने के बाद एक टीम बूथ के अंदर एटीएम काटने घुसी और बूथ का शटर बंद कर दिया था। जबकि दूसरी टीम एटीमए के दाहिने तरफ अंधेरे में खड़े रहकर निगरानी कर रहे थे। रात में गश्त कर रही डायल-100 की वैन पहले वहां से गुजरी थी,तो एटीएम का शटर खुला हुआ था,लेकिन तड़के करीब 3ः40 बजे जब दोबारा वैन वहां से गुजरी तो शटर बंद था।

वैन रोककर ध्यान से देखने पर पुलिस को शटर में धुआं निकलता दिखा। पुलिस वैन से उतरकर जैसे ही बूथ की तरफ बढ़ी,अंधेरे में खड़े बदमाशों ने एक के बाद एक कर दो हवाई फायर किए। गोली चलने की आवाज सुनते ही शटर खोलकर बदमाश तेजी से खेतों की तरफ भाग निकले।

अलर्ट नहीं मिला

इस घटना में एटीएम से छेड़छाड़ होने पर ऑटोमैटिक संबंधित बैंक प्रबंधन और पुलिस को मिलने वाला अलर्ट का मैसेज भी नहीं मिला। संभवतः बदमाशों ने सिस्टम को बंद कर अलर्ट सिस्टम को बाधित कर दिया था। यदि गश्त के दौरान पुलिस सतर्क नहीं होती तो बदमाश कैश ले जाने में सफल हो जाते।

पिछले दिनों ली थी बैठक

11 जून को आईजी योगेश देशमुख एवं डीआईजी इरशाद वली द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम में बैंक अफसरों, एटीएम अधिकारियों की बैठक ली गई थी। इसमें निर्देश दिए गए थे कि बैंक व एटीएम की सुरक्षा में किसी तरह की कोताही नही बरतें। सुरक्षा व्यवस्था हेतु नाईट विजन सीसीटीवी कैमरे, सशस्त्र सुरक्षा गार्ड एवं अलार्म आदि उपकरणों का इंतजाम करना सुनिश्चित करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.