जबलपुर में झमाझम बारिश, अगले 48 घंटे में कई स्थानों पर तेज बौछारें पड़ने के आसार

भोपाल। हाल ही में बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र तीव्र कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर आगे बढ़ रहा है। इसके साथ ही एक ऊपरी हवा का चक्रवात भी बना हुआ है। इन दोनों सिस्टम के असर से पूर्वी मध्यप्रदेश में अच्छी बरसात का सिलसिला शुरू हो गया है।

उधर दक्षिणी गुजरात पर बने ऊपरी हवा के चक्रवात से दक्षिणी मध्यप्रदेश में बड़े पैमाने पर नमी आ रही है। इससे प्रदेश के दक्षिणी क्षेत्र में भी तेज बौछारें पड़ रही हैं। इसी क्रम में मंगलवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे के बीच जबलपुर में 86 मिमी. पानी गिरा।

सतना में 32,खजुराहो में 24,दमोह में 16,पचमढ़ी और रीवा में 15,ग्वालियर,सीधी में 8,गुना में 3,दमोह और भोपाल में 2 मिमी. बरसात हुई। मौसम विज्ञानियों ने अगले 24 घंटों के दौरान छिंदवाड़ा, बैतूल, नरसिंहपुर, सिवनी,रीवा,सीधी,सिंगरौली, शहडोल,जबलपुर,इंदौर,खंडवा,खरगोन,धार,भोपाल,विदिशा,सागर में अच्छी बरसात होने के आसार जताए हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक बंगाल की खाड़ी से आगे बढ़ा सिस्टम वर्तमान में तीव्र कम दबाव का क्षेत्र बनकर दक्षिण झारखंड,पश्चिम बंगाल और उत्तरी उड़ीसा पर सक्रिय है। साथ ही इसी स्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात भी बना है। इस वजह से मानसून को काफी ऊर्जा मिल रही है। इससे पूरे प्रदेश में अच्छी बरसात होने की संभावना है। इसके प्रभाव से 2-3 दिन में मानसून प्रदेश के शेष हिस्सों को भी कवर कर सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.