Akash Vijayvargiya Case : दिग्विजय सिंह का PM Modi पर तंज, कहा- कार्रवाई हुई तो मोदी जी को बधाई

भोपाल। भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के मामले में सियासत गरमाती जा रही है। मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा संसदीय दल की बैठक में विधायक आकाश पर कड़ी नाराजगी जताई थी। उन्होंने बैठक में यहां तक कह दिया था कि ऐसा बर्ताव करने वालों को तो पार्टी से निकाल देना चाहिए था। अब इस पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह मैदान में कूद गए हैं। उन्होंने इस मसले पर ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर तंज कसा।

अपने ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने लिखा कि, अगर पीएम मोदी आकाश विजयवर्गीय को पार्टी से निष्कासित करते हैं तो उनको बधाई। अगर ऐसा नहीं होता है तो यही कहेंगे कि आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नीयत साफ नहीं है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट में अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा, “अमित शाह जी, अपने प्रिय मित्र कैलाश विजयवर्गीय के बेटे का कोई नुकसान होने देंगे. देखते हैं।

digvijaya singh

@digvijaya_28

अगर एेंसा होता है तो मोदी जी आपको बधाई। यदि नहीं होता है तो यही कहेंगे आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नियत साफ़ नहीं है। मुझे नहीं लगता अमित शाह जी अपने प्रिय मित्र कैलाश वीजावर्गीय के बेटे का कोई नुक्सान होने देंगे। देखते हैं।

689 people are talking about this

दिग्विजय सिंह यहीं नहीं रुके उन्होंने इस मसले पर दूसरा ट्वीट किया, मोदी जी ने कल भाजपा संसदीय दल की बैठक में भाजपा विधायक आकाश के खिलाफ नाराजगी जताई थी और आकाश के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए थे। यही नहीं उन भाजपा के कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी कार्यवाही करने के निर्देश दिए, जिन्होंने जेल से छूटने के बाद उसका स्वागत किया और “हर्ष फायरिंग” भी की थी।

digvijaya singh

@digvijaya_28

मोदी जी ने कल भाजपा संसदीय दल की बैठक में आकाश के इस बयान के खिलाफ नाराजी प्रकट की और आकाश के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये। यही नहीं उन भाजपा के कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये जिन्होंने जेल से छूटने के बाद उसका स्वागत किया और “हर्ष फायरिंग” की। https://twitter.com/digvijaya_28/status/1144087822074122242 

digvijaya singh

@digvijaya_28

आकाश विजयवर्गीय- “ हमें भाजपा में सिखाया जाता है- पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन” क्या इससे स्पष्ट नहीं होता कि भाजपा को ना नियम पर, ना क़ानून पर, ना संविधान पर विश्वास है ?

166 people are talking about this
बता दें कि 26 जून को इंदौर के गंजी कंपाउंड इलाके में एक जर्जर भवन गिराने की कार्रवाई के दौरान हुए विवाद में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम के बिल्डिंग इंस्पेक्टर को बल्ले से पीट दिया था। विवाद बढ़ने पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई और पुलिस ने उसी शाम उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। हालांकि चार दिन बाद उन्हें भोपाल की स्पेशल कोर्ट से जमानत मिल गई थी। आकाश विजयवर्गीय के रविवार सुबह जमानत पर जेल से बाहर आने पर उनके समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया था। उन्होंने जश्न मनाते हुए हवाई फायरिंग भी की थी। अपने समर्थकों के साथ जेल पहुंचे आकाश के पिता और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने जेल के बाहर उनका स्वागत किया था।
Leave A Reply

Your email address will not be published.