’23 मई के बाद BJP के 25 विधायक होंगे कांग्रेस में शामिल’

भोपाल: रविवार को आए एग्जिट पोल में बीजेपी की केंद्र में सरकार बनते दिख रही है। लेकिन मध्यप्रदेश की सियासत में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के फ्लोर टेस्ट की मांग के बाद से बवाल मचा हुआ है। जिसको लेकर कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा ने बीजेपी पर बड़ा हमला बोला है। पीसी शर्मा ने कहा है कि अगर केंद्र में मोदी सरकार नहीं बनती है तो MP में BJP के 25 विधायक कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। वहीं एग्जिट पोल पर प्रतिक्रिया देते हुए शर्मा ने कहा कि 23 मई को जो नतीजे सामने आएंगे वो एग्जिट पोल के ठीक विपरीत होंगे।

साध्वी प्रज्ञा पर भी साधा निशाना 
कैबिनेट मंत्री ने साध्वी प्रज्ञा पर भी हमला बोलते हुए कहा है कि सुनील जोशी हत्याकांड की फाइल री-ओपन कराई जाएगी। उसमें साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की भूमिका की जांच होगी। आपको बता दें कि 29 सितंबर 2007 को देवास में सुनील जोशी की हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद 1 फरवरी 2017 को प्रज्ञा सहित 8 आरोपियों को NIA ने बरी कर दिया था।

CM कमलनाथ भी साध चुके हैं निशाना 
इससे पहले MP के CM कमलनाथ ने भी बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा कि, उनकी सरकार बहुमत साबित करने के लिए तैयार है और उन्हें कोई दिक्कत नहीं है। कमलनाथ ने कहा, ‘बीते पांच महीने में चार बार बहुमत सिद्ध किया जा चुका है। CM ने EXIT POLL को लेकर कहा कि ये पोल तो एक मनोरंजन है। असली पोल तो 23 मई को खुलेगा आप इसी एग्जिट पोल से खुशियां मना लें।

गोपाल भार्गव की चिट्ठी के बाद तेज हुई सियासत
बता दें नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के राज्यपाल को लिखे पत्र के बाद से प्रदेश कि सियासत तेज हो गई। भार्गव ने राज्यपाल को पत्र लिखते हुए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की थी। भार्गव ने कहा था कि हर सर्वेक्षण में केंद्र में NDA सरकार तय लग रही है। मध्यप्रदेश में भाजपा को 29 में से 26-27 सीटें आने की संभावना है। इससे साबित होता है कि कांग्रेस के पास विश्वास नहीं बचा है। ये जनमत राज्य सरकार के खिलाफ आया है और इसलिए सरकार को जल्द विधानसभा का सत्र बुलवा कर सदन में बहुमत सिद्ध करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.