लोकसभा चुनाव में कमलनाथ ने हार की खुद ली जिम्मेदारी, बाकी मंत्री भी समर्थन में उतरे

भोपाल: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दुख जताने का बयान सामने आने के बाद तथा इस्तीफे देने की बात पर अड़े रहने पर सीएम कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी ली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की हार का जिम्मेंदारी मैं हूं। सीएम के इस बयान के साथ ही बाकी मंत्री भी उनके समर्थन में उतर आए तथा इस्तीफे की पेशकश की।

कमलनाथ ने कहा, ‘राहुल गांधी सही है। मैं नहीं जानता कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है, लेकिन मैंने पहले इस्तीफे की पेशकश की थी। हां, मैं हार का जिम्मेदार हूं। मुझे दूसरे नेताओं के बारे में पता नहीं है।’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफा देने पर अड़े रहने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी सही व्यक्ति हैं. जब उनसे पूछा गया कि राहुल गांधी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष कौन बनेगा, तो उन्होंने कहा कि उनको किसी दूसरे नेता के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की जानकारी नहीं ह

सीएम कमलनाथ के इस्तीफे की पेशकस के साथ ही कांग्रेस नेताओं व मन्त्रियों के इस्तीफे का सिलसिला शुरु हो गया। विवेक तन्खा ने ट्वीव के जरिए इस्तीफे की पेशकश की जबकि सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने भी एक बड़ा बयान देते हुए कहा- जब लोकसभा में जनता ने पसंद नहीं किया है तो हमें अपने पदों का त्याग कर देना चाहिए।

खेलमंत्री जीतू पटवारी ने भी कमलनाथ के इस्तीफे का समर्थन किया है तथा कहा कि हम उनके साथ है।
बता दें कि, बुधवार को यूथ कांग्रेस के लोग राहुल गांधी के घर के बाहर एकत्रित हुए थे। मकसद था राहुल गांधी इस्तीफा न दें और कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बने रहें। राहुल गांधी के समर्थन में उनके घर के बाहर जब राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बैठे तो राहुल ने सभी को अपने घर पर आमंत्रित किया और उनसे अपने मन की बात की। राहुल गांधी ने कहा था मुझे इसी बात का दुख है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया।