मारपीट में आकाश विजयवर्गीय का साथ देने वाले इंदौर नगर निगम के 21 कर्मचारी बर्खास्त

बीते दिन इंदौर में आकाश विजयवर्गीय का एक वीडियो सामने आया जिलमें वो खूब बल्ला चला रहे थे। लेकिन वो बल्ला किसी गेंद को नहीं बल्कि किसी आदमी पर बरसाया जा रहा था। इंदौर नगर निगम के 21 कर्मचारियों पर गाज गिरी है। उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। निगम आयुक्त आशीष सिंह ने गुरुवार को इन सभी को बर्ख़ास्त कर दिया। आरोप है कि बुधवार को निगम के अफसर के साथ मारपीट में इन सभी ने बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय का साथ दिया था। इस बीच गुरुवार को बीजेपी विधायक की गुंडागर्दी के विरोध में इंदौर नगर निगम के कर्मचारियों ने काम ठप कर दिया है। आक्रोशित कर्मचारी सड़कों पर उतर आए हैं। निगम के सभी विभागों के कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ विरोध जताया। दरअसल आकाश विजयवर्गीय ने बुधवार को इंदौर नगर निगम के अधिकारियों की बल्ले से सरेआम पिटाई की थी।

मारपीट की इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि निगम के कर्मचारी शहर में जर्जर हो चुके मकानों को तोड़ने आए थे। इस पर आकाश विजयवर्गीय वहां पहुंच गए और उन्होंने उनसे बदसलूकी की और बुरी तरीके भड़क गए।  उन्होंने अधिकारियों की जोरदार तरीके से पिटाई कर दी। वो लगातार उन्हें बैट से मारते रहे। इस दौरान वो पुलिस और नगर निगम के अफसरों से भी भिड़ते रहे। नगर निगम दरअसल शहर के इन जर्जर मकानों को खाली कराकर तोड़ना चाहती थी, ताकि किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचा जा सके। मारपीट की इस घटना के बाद आकाश विजयवर्गीय को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद बुधवार को ही उन्हें स्थानीय कोर्ट में पेश किया गया।