चमकी बुखार का MP में पहला संदिग्ध मामला, 8 वर्षीय बच्चे की मौत

इंदौर: बिहार में चमकी बुखार के कहर के बाद अब मध्यप्रदेश में पहला संदिग्ध मामला सामने आया है। जिसमें खातेगांव के समीप के गांव जामनेर में 8 वर्षीय बच्चे में चमकी बुखार के लक्षण पाए गए। जिसे इंदौर के एमवाय अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। बच्चे में चमकी बुखार के लक्षण होने की आशंका जताई जा रही है, हालांकि अभी डॉक्टरों ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की गई।

 जानकारी के अनुसार, खातेगांव के समीप के गांव जामनेर के 8 वर्षीय बालक असलम पिता इब्राहिम खां को शुक्रवार को तेज बुखार आ गया। बच्चा का परिवार बेहद गरीब है। परिवार ने गांव के ही बंगाली डॉक्टर से इसका इलाज करवाया लेकिन रात में बुखार नहीं उतरा और उल्टियां शुरू हो गई। शनिवार सुबह परिजन बालक को खातेगांव सरकारी अस्पताल लेकर आए। बच्चा लगभग बेहोशी की हालत में था। डॉक्टर चंपा बघेल ने उसे प्राथमिक उपचार देकर हरदा रैफर किया।

हरदा जिला अस्पताल में बालक को एडमिट ही नहीं किया गया। डॉक्टरों ने कहा मामला गंभीर है, इसका इलाज यहां संभव नहीं है। आप इसे किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में या इंदौर ले जाओ। परिजन ने हरदा के पल्स हॉस्पिटल में दिखाया। लेकिन पैसों की कमी के कारण परिवार बच्चों को लेकर घर वापस आ गया। गांव वालों ने मिलकर परिजनों को समझाया तो वे फिर से बच्चे को इंदौर के एमवाय में भर्ती किया गया। लेकिन बच्चे की मौत हो गई। डॉक्टरों ने अभी चमकी बुखार की पुष्टि नहीं की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.