राहुल गांधी की जगह गहलोत संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान, नहीं छोड़ेंगे CM का पद

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के कयासों ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया है। माना जा रहा है कि वह जल्द ही राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान संभालने जा रहे हैं। हालांकि वह राजस्थान के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी भी अपने पास ही रखेंगे।

गहलोत के नाम पर लग चुकी है मुहर 
सूत्रों के अनुसार नए उत्तराधिकारी को लेकर काफी मंथन के बाद कांग्रेस पार्टी ने गहलोत के नाम पर मुहर लगा दी है। अब किसी भी समय उनके नाम की औपचारिक घोषणा हो सकती है। जानकारी के अनुसार अशोक ने सीएम पद पर  काम करते रहने की भी इच्छा जाहिर की है। हालांकि चर्चा यह थी कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री की गद्दी मिल सकती है।

तीन बार सीएम बन चुके हैं गहलोत
दरअसल पिछले एक साल में कांग्रेस में अगर किसी नेता का कद इतना अधिक बढ़ा है, तो वो सिर्फ गहलोत ही हैं। वह तीन बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। 2018 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी को सत्ता से बाहर करने में अहम भूमिका भी निभाई थी। गहलोत का राजनीतिक करियर 40 साल से भी ज्यादा का है। उन्होंने उतार-चढ़ाव दोनों देखे हैं, उनके इस अनुभव का फायदा पार्टी को राजस्थान विधानसभा चुनाव में भी हुआ और अगर वो कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं, तो पार्टी को आगे भी इसका फायदा मिल सकता है। 

शिंदे और खडग़े के नाम की चर्चा
बता दें कि इस संबंध में कुछ और नाम भी प्रस्तावित किए गए थे। इनमें अनुसूचित जाति के 2 नेता सुशील कुमार शिंदे और मल्लिकार्जुन खडग़े शामिल हैं। इनके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम भी युवा अध्यक्ष के तौर पर लिया गया है।  इससे पहले पार्टी ने 3 या 4 कार्यकारी अध्यक्ष के लिए प्रस्ताव दिया था। कहा गया था कि उत्तर, दक्षिण और पूर्वी भारत से एक-एक और अगर चौथा अध्यक्ष पश्चिम भारत से चुना जाए तो कोई हर्ज नहीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.