स्मृति ईरानी अमेठी से अपना रिश्ता करेंगी और मजबूत, बनाएंगी घर

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जो बीते डेढ़ दशक में नहीं कर पाए। वह अब अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी करने जा रही हैं। उन्होंने यहां शनिवार को जो घोषणा की कि वह अमेठी में अपना घर बनाएंगी और इसके लिए गौरीगंज में उन्होंने एक भूखंड देख लिया है। उन्होंने कहा कि अमेठी अब स्थायी निवास स्थल होगा और वह लोगों के लिए उपलब्ध रहेंगी।

राहुल गांधी ने साल 2004 से 2019 के चुनाव से पहले तक लोकसभा में अमेठी का प्रतिनिधित्व किया था। साल 1999 में उनकी मां सोनिया गांधी ने यह सीट जीती थी। अमेठी सीट पर लगातार कब्जा रहने के बावजूद गांधी परिवार ने यहां अपना घर बनाने की नहीं सोची, बल्कि वे अपने दौरे के दौरान अतिथि गृह में रहते थे। अपने निर्वाचन क्षेत्र में घर बनाने का स्मृति ईरानी का फैसला इस बात का स्पष्ट संकेत है कि वह आगामी वर्षो में अमेठी के साथ संबंध बरकरार रखने का इरादा रखती हैं। मंत्री ने शनिवार को अपने निर्वाचन क्षेत्र के लिए कई परियोजनाओं की घोषणा भी की।

लोकसभा चुनाव 2019 में स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 50 हजार से ज्यादा वोट से हराया था। बता दें कि 2014 में राहुल गांधी ने स्मृति ईरानी को हरा दिया था, लेकिन इसके बाद भी वह अमेठी का दौरा करती रहीं। उन्होंने लगातार पांच साल लोगों से संपर्क बनाए रखा। इसका फायदा उन्हें लोकसभा चुनाव 2019 में मिला।