वर वधु को शादी के दूसरे फेरे पर रोका, कहा- दूल्हा-दुल्हन का गोत्र समान, इसलिए वे भाई-बहन

अशोकनगर: जिले के गांव ओडिला में उस समय स्थिति बेहद अजीब हो गई जब शादी रचा रहे दूल्हा-दुल्हन को दो फेरों के बाद यह कहकर रोक दिया गया कि वे रिश्ते में भाई बहन है। इसके बाद वर पक्ष ने वधु पक्ष पर आरोप लगाए कि मामला समान गोत का नहीं बल्कि वे दूल्हे को घोड़े पर बैठाकर और बारातियों को जीप व बस से लेकर नहीं आए इसलिए शादी रोकी गई। बात बढ़ने पर मामला थाने तक पहुंच गया।

जानकारी के अनुसार, कोलारस के रामगढ़ चक्क निवासी परमा आदिवासी के बेटे खुशालीराम की शादी ईसागढ़ के ओडिला निवासी मोहर सिंह की बेटी सबीना के साथ तय हुई थी। लगभग 30 बाराती ट्रैक्टर-ट्राली से 17 जून को ईसागढ़ के ओडिला पहुंचे।

जब फेरे चल रहे थे, तभी वधु पक्ष ने कहा कि हमें पता चला है कि लड़के वालों और लड़की के मामा दोनों का गौत्र नकटेले है। इसलिए यह शादी नहीं हो सकती। वर पक्ष ने शादी बचाने की काफी कोशिश की लेकिन वधु पक्ष ने दहेज का सामान भी ट्रॉली से उतार लिया। इसके बाद शिकायत लेकर वर पक्ष के लोग थाने पहुंच गए।