भारत ने पाकिस्तान के झूठ की खोली पोल, कहा- इमरान खान से नहीं हुई कोई बातचीत

नई दिल्ली, एएनआइ। भारत ने एकबार फिर पाकिस्तान के झूठे दावों की पोल खोल दी है। भारत ने गुरुवार को पाकिस्तान के उन दावों की हवा खोल दी, जिसमें भारत से बातचीत की बात कही गई है। भारत ने साफ किया है कि हम अपने पड़ोसी देशो के साथ जिनमें पाकिस्तान भी शामिल है, सामान्य और सहयोगी रिश्ते चाहते हैं। लेकिन भारत ने पाकिस्तान से बातचीत के पाकिस्तान के दावे को सिरे से नकार दिया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘सामान्य राजनयिक प्रक्रिया के तौर पर भारत के पीएम और विदेश मंत्री ने पाकिस्तान के बधाई संदेश का जवाब दिया है। अपने संदेश में भारत ने अपने पड़ोसी देशो के साथ जिनमें पाकिस्तान भी शामिल है, सामान्य और सहयोगी रिश्तों को तरजीह देने की बात कही है।’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार उन सवालों का जवाब दे रहे थे, जिसमें दावा किया जा रहा था कि भारत ने पाकिस्तान के बधाई संदेश का क्या जवाब दिया है।

ANI

@ANI

MEA on Pak media claims India ready for talks: As per diplomatic practice,PM&EAM have responded to congratulatory messages received from their counterparts in Pak. In their messages,they have highlighted that India seeks normal&cooperative relations with all neighbours, incl Pak

26 people are talking about this
दरअसल भारत का ये जवाब, पाकिस्तानी मीडिया में आ रहीं उन रिपोर्ट्स के बाद आया है जिनमें कहा जा रहा था कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान के बधाई संदेश का जवाब देते हुए पड़ोसी देश पाकिस्तान से बातचीत को लेकर हामी भर दी है।

ANI

@ANI

MEA: In his message, PM Modi said “For this, It is important to build an environment of trust, free of terror, violence and hostility.” EAM also emphasized the need for an ‘atmosphere free from the shadow of terror and violence’. https://twitter.com/ANI/status/1141596288850415616 

ANI

@ANI

MEA on Pak media claims India ready for talks: As per diplomatic practice,PM&EAM have responded to congratulatory messages received from their counterparts in Pak. In their messages,they have highlighted that India seeks normal&cooperative relations with all neighbours, incl Pak

23 people are talking about this
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आगे कहा, ‘पीएन नरेंद्र मोदी के संदेश का मूलबिंदु विश्वास, आतंकी विरोधी, हिंसा विरोधी रहा जबकि विदेश मंत्री एस जयशंकर के संदेश का सार आतंक और हिंसा मुक्त वातावरण के इर्द गिर्द रहा।’

बता दें, भारत और पाकिस्तान के बीच 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही तनाव बरकरार है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ (CRPF) के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। जिसके बाद पूरी दुनिया आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़ी हो गई थी। भारत ने हर बार, हर एक मंच पर ये बात साफ की है कि बिना आतंकवाद को खत्म किए पाकिस्तान से कोई बातचीत नहीं हो सकती और भारत अब भी अपने इस कदम पर टिका हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.