खाकी फिर हुई शर्मसार, पुलिस हिरासत में युवक की पीट-पीटकर हत्या, 5 सस्पेंड

भोपाल: राजधानी में बढ़ रहे अपराध को लेकर पुलिस की कार्यशैली पहले ही सवालों के घेरे में थी लेकिन अब बैरागढ़ पुलिस पर एक युवक को जान से मारने के गंभीर आरोप लगे हैं। परिजनों का आरोप है कि पुलिस द्वारा में सड़क दुर्घटना के मामले में पकड़े गए उनके बेटे को पुलिस वालों ने पीट पीट कर मार दिया। वहीं मृतक युवक के परिवार ने पुलिस पर सोने की चेन लूटने का भी आरोप लगाया है। युवक की मौत पर परिजनों ने रोष व्यक्त किया है, और दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के अनुसार, घटना मंगलवार रात ढाई बजे की है, शिवम मिश्रा ओर उसका दोस्त गोविंद शर्मा ढाबे से खाना खा कर लौट रहे थे। तभी बीआरटीएस कॉरिडोर में उनकी XUV रेलिंग से टकराई, इस दौरान लालघाटी पुलिस दोनों को बैरागढ़ ले गई। लेकिन पुलिस हिरासत में शिवम की मौत हो गई। शिवम के परिवार ने पुलिस पर अपने बेटे की हत्या का आरोप लगाया है। उनका कहना है पुलिस की मारपीट के कारण शिवम की मौत हुई है।

घटना के बाद से परिजन हमीदिया अस्पताल पहुंचे और जमकर हंगामा किया। परिजनों ने पुलिस के खिलाफ हत्या और लूट का प्रकरण दर्ज करने की मांग की। मामले की सचना पाकर आला अधिकारी हमीदिया अस्पताल पहुंचे। वहीं बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा भी पहुंचे हैं और उन्होंने पुलिस और सरकार पर हमला बोला है।

पुलिस की पिटाई से युवक की मौत होने के मामले में गृह मंत्री ने जांच कराने के बाद जो भी मामले में पुलिसकर्मी दोषी होंगे। उनके खिलाफ कार्रवाई की बात कही है। वहीं भोपाल आईजी योगेश देशमुख ने बैरागढ़ थाना प्रभारी अजय मिश्रा, एसआई राजेश तिवारी, हेड कांस्टेबल बोहराम सिंह, आरक्षक राजकुमार भटनागर और आरक्षक गंगाराम को सस्पेंड कर दिया है