चमकी बुखार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, सोमवार को होगी सुनवाई

नई दिल्ली: बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से अब तक 112 बच्चों की मौत हो चुकी है वहीं 144 लोग अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं। चमकी बुखार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। सोमवार को इस मामले में सुनवाई होगी। इससे पहले इस मामले को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और राज्य सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जा चुका है। बच्चों की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्रियों के खिलाफ जनहित याचिका (पीआईएल) दाखिल की गई है। इस पीआईएल में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे और राज्य सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को भी नामजद किया गया है।मालूम हो कि बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास में पिछले दो-तीन हफ्तों से एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) बच्चों पर कहर बनकर टूट रहा है। पिछले 17 दिनों में 120 से ज्यादा बच्चों की मौत के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नींद टूटी और मंगलवार को वह मुजफ्फरपुर पहुंचे थे।
श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) का दौरा करने पहुंचे नीतीश कुमार को यहां भारी विरोध का सामना करना पड़ा। एसकेएमसीएच अस्पताल के बाहर आक्रोशित लोगों ने उनके खिलाफ प्रदर्शन किया। लोगों ने नीतीश गो बैक और मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। बाद में नीतीश कुमार ने बच्चों के परिजनों को राहत का आश्वासन दिया और डॉक्टरों से स्थिति की जानकारी ली।

Leave A Reply

Your email address will not be published.