पाकिस्तान में सेना और आइएसआइ की आलोचना करने वाले ब्लॉगर की हत्या

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में रविवार रात 22 साल के ब्लॉगर और पत्रकार मुहम्मद बिलाल खान की हत्या कर दी गई। बिलाल मुल्क की ताकतवर सेना और कुख्यात खुफिया एजेंसी आइएसआइ के आलोचक के तौर पर चर्चित थे।

डॉन अखबार में पुलिस अधीक्षक सदर मलिक नईम के हवाले से कहा गया है कि बिलाल को रविवार रात किसी का फोन आया था। इसके बाद वह अपने चचेरे भाई के साथ इस्लामाबाद के जी-9 इलाके गए थे। वहां एक व्यक्ति मिला जो उन्हें जंगल में ले गया, जहां खान और उनके चचेरे भाई पर छुरे से हमला किया गया। इस हमले में खान की मौत हो गई और उनका चचेरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, कुछ लोगों ने गोलियां चलने की आवाज भी सुनीं। पुलिस ने आतंक रोधी एक्ट समेत कई धाराओं में मामला दर्ज किया है। बिलाल के पिता ने कहा, ‘मेरे बेटे की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने पैगंबर के बारे में बोला था।’

सोशल मीडिया में सेना और आइएसआइ पर फूटा गुस्सा

बिलाल की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर हैशटैग जस्टिसफॉरमुहम्मदबिलालखान ट्रेंड करने लगा। कई ट्विटर यूजरों ने कहा कि पाकिस्तान की सेना और खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (आइएसआइ) की आलोचना के चलते ही खान की हत्या की गई है।

ट्विटर पर 16 हजार फॉलोअर

बिलाल खान को ट्विटर पर 16 हजार और फेसबुक पर 22 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते थे। उनके यूट्यूब चैनल को फॉलो करने वालों की संख्या 48 हजार से ज्यादा थी।