ममता से मिलने का ऑफर ठुकरा रहे डाॅक्टर, कहा- मेडीकल काॅलेज आकर सुने हमारी बात

कोलकाताः डाॅक्टरों की हड़ताल एक बहुत ही बड़ा रुप धारन कर रही है,यह हड़ताल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही। अब यह बंगाल से लेकर दिल्ली तक पहुंच गया है। इसके इलावा अन्य राज्य के डाॅक्टर भी उनका समर्थन करने के लिए धरने दे रहें है। बड़ती हड़ताल को देखते हुए ममता बनर्जी की सरकार कुछ हरतक में आती दिखाई दे रही है।शुक्रवार रात को सरकार की ओर से हड़ताली डॉक्टरों से बातचीत का प्रयास किया गया था, लेकिन डॉक्टर इस बात पर अड़े रहे कि सीएम एनआरएस मेडिकल कॉलज में आकर उनकी समस्याएं सुने,हम उनसे मिलने नहीं जाएंगे। एनआरएस मेडिकल कॉलेज में ही इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर हमला कर दिया था।

इस हमले में दो डॉक्टर घायल हो गए थे, जिनमें से एक की हालत गंभीर है। शुक्रवार रात को 11:45 बजे सूबे के तमाम शहरों के मेडिकल कॉलेजों के डॉक्टरों की मीटिंग हुई। इसमें शामिल ज्यादातर नेताओं ने सरकार से समझौते की बात से इनकार किया। इस बीच पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने एक बार फिर से डॉक्टरों से वापस लौटने की अपील करते हुए कहा है कि वे जल्द से जल्द मरीजों को देखें। सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को सरकार की ओर से एनआरएस मेडिकल कॉलेज के आंदोलनकारी डॉक्टरों को बातचीत का प्रस्ताव आया था। डॉक्टरों से कहा गया था कि वे राज्य सचिवालय में आकर सीएम से मुलाकात करें।