Covid-19: माैत से चंद घंटे पहले आई कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट, BGH के डॉक्टरों-नर्सों में बढ़ा संक्रमण का खतरा

बोकारो।  Bokaro General Hospital (BGH) में कोरोना पॉजिटिव मरीज की माैत के बाद संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। मृतक के संपर्क में आने वाले डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों का सैंपल लिया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन और बोकारो जिला प्रशासन को डर है कि मृतक के संपर्क में आने वालों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है। यह बहुत ही चिंतनीय बात है। क्योंकि मृतक के बारे में पहले से कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी नहीं थी। रिपोर्ट आने के चंद घंटे बाद ही उसकी मृत्यु हो गई।

गुरुवार तड़के 4.30 बजे हुई माैत 

बोकारो जनरल अस्पताल के सीसीयू वार्ड में इलाजरत कोरोना संक्रमित मरीज (corona positive patient) की मौत गुरूवार की अहले सुबह लगभग 4.30 बजे हो गई। मरीज की मौत के बाद चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी  परेशान हैं। इस दौरान अस्पताल के वैसे सभी चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मियों को होम क्वारंटाइन करने की ताकीद की गई है जो कि उस मरीज के संपर्क में थे। बोकारो जिले के गोमिया के साडम निवासी 75 वर्षीय वृद्ध पुरुष मरीज 4 अप्रैल को सांस में तकलीफ की शिकायत बीजीएच में भर्ती हुआ था। जांच के बाद कैजुअल्टी के चिकित्सकों ने उसे सीसीयू वार्ड भेज दिया। मरीज को पहले नेफ्रो व बाद में कार्डियो यूनिट में ट्रांसफर कर इलाज शुरू किया गया।

mritunjay pathak@mpathak009

झारखंड में कोरोना से पहली मौत का मामला बोकारो से आया। बोकारो के सिविल सर्जन एके पाठक ने की पुष्टि।

एम्बेडेड वीडियो

mritunjay pathak के अन्य ट्वीट देखें

मरीज को पहले से ब्लड प्रेशर व हाइपरटेंशन की बीमारी थी। बीजीएच में आने के दौरान उसे निमोनिया व हार्ट अटैक का भी दौरा पड़ा था लेकिन सांस में तकलीफ की शिकायत के चलते चिकित्सकों ने उसका ब्लड सैंपल कोरोना जांच के लिए मंलगवार को भेजा था। जिसकी रिपोर्ट बुधवार को देर रात आने से पता चला की वह मरीज कोरोना से भी संक्रमित है। इसके बाद चिकित्सक मरीज के आगे का उपचार कर पाते उससे पहले ही गुरूवार की सुबह उसकी मौत हो गई।

प्रशासन को नहीं मिला है यात्रा ब्योरा

कोरोना पॉजिटिव मरीज के यात्रा ब्योरा की जानकारी  चिकित्सकों को नहीं दी गई। इसलिए बीजीएच के चिकित्सकों ने इसका इलाज सामान्य  मरीज के तरह प्रारंभ किया। अब जबकि पॉजिटिव आने के बाद इसकी मौत हो गई तो प्रशासन इसके संपर्क की जांच कर रहा है। गुरुवार को मृतक के परिवार के 18 लोगों का सैंपल लिया गया।

गांव को किया जा रहा सैनिटाइज

मृतक के घर और आसपास के क्षेत्रों को सैनिटाइज करने का भी काम जारी है। पूरे  साडम गांव को भी सैनिटाइज करने का भी काम चल रहा है।  प्रशासन ने अपील की है कि लोगों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। लोग लॉकडाउन का पालन कर वैश्विक महामारी कोरोना को हराने में सरकार और जिला प्रशासन का सहयोग करें।