लॉकडाउन में दो बराती लेकर पहुंचा दूल्हा, मास्क पहनकर लिए फेरे

लॉकडाउन के बीच बुधवार को आर्य समाज मंदिर में बड़ी सादगी के साथ एक शादी हुई। दूल्हा सिर्फ दो बराती लेकर पहुंचा था। लड़की पक्ष के भी दो लोग भी मौजूद थे। मास्क पहनकर फेरे हुए। दुल्हन की विदाई भी हुई। दोनों परिवारों को कहना था कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद कार्यक्रम का आयोजन करेंगे।

लाॅकडाउन की वजह से हुई आर्यसमाज में शादी

अंकित वशिष्ठ पुत्र स्व. बृजेश चंद्र शर्मा निवासी सासनीगेट की शादी बिहारी नगर निवासी नेत्रपाल शर्मा की बेटी मोहिनी के साथ आठ अप्रैल को तय हुई थी। कार्ड बंटने के साथ कलावती गेस्ट हाउस बुक कर लिया गया था, मगर लॉकडाउन के चलते सारे काम अटक गए। अंकित के बहनोई गौरव ने कहा कि शादी का अगले दो साल तक कोई मुहुर्त नहीं था, इसलिए अचल रोड स्थित आर्य समाज मंदिर में शादी करने पर विचार किया गया। इसके लिए मंदिर कमेटी से तीन दिन पहले अनुमति ली गई। तय हुआ कि दोनों पक्षों से सिर्फ चार लोग आएंगे। साथ ही लॉकडाउन के नियमों का पालन करेंगे। इसी क्रम में अंकित की तरफ से उनकी बहन पूजा व भाई विवेक आए, जबकि मोहिनी की ओर से उनके माता अनीता शर्मा व पिता नेत्रपाल आए। चारों के आधार कार्ड जमा किए गए। गौरव भी मौजूद थे।

लॉकडाउन के बाद करेंगे बाकी कार्यक्रम

बुधवार सुबह नौ बजे मंदिर कमेटी के सहयोग से शादी हुई। इस दौरान दूल्हा-दुल्हन ने मास्क भी पहना। जरूरत पडऩे पर मास्क हटाना पड़ा। फेरे भी हुए। साथ आए लोग भी मास्क पहनकर शारीरिक दूरी बनाते हुए बैठे थे। करीब 12 बजे विदाई हुई और दोनों पक्ष अपने अपने घर लौट गए। गौरव का कहना है कि लॉकडाउन के सारे नियमों का पालन किया है। जब लॉकडाउन खत्म हो जाएगा, तो एक कार्यक्रम आयोजित बाकी रस्म अदा करेंगे।

हिदायत देकर लौटी पुलिस

इंस्पेक्टर गांधीपार्क सुधीर पाल धामा का कहना है कि सूचना पर पुलिस पहुंची थी। शादी के दौरान लॉकडाउन के नियमों का पालन किया जा रहा था। परिवार ने इसकी अनुमति भी ले रखी थी। हिदायत दी कि शारीरिक दूरी का पालन करें। इसके बाद पुलिस लौट गई।

शारीरिक दूरी नहीं बनाई तो होगी कार्रवाई

एडीएम सिटी राकेश मालपाणी ने बताया कि यह पता लगाया जा रहा है कि शारीरिक दूरी के निर्देश का पालन किया या नहीं। यदि पालन नहीं किया होगा तो कार्रवाई होगी।