BJP foundation day: 40 साल की हुई भाजपा, कोरोना की छाया में कार्यकर्ताओं ने मर-मिटने का लिया संकल्प

धनबाद। भारतीय जनता पार्टी धनबाद जिला कार्यालय में सोमवार को सादगी से स्थापना दिवस मनाया गया। इस दौरान जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने ध्वजारोहण किया और जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। उन्होंने कहा कि देश इस समय विकट परिस्थिति से गुजर रहा है। ऐसे में भाजपा कार्यकर्ताओं की सिद्धांत निष्ठा ही है कि हम 5 की संख्या में ही सही लेकिन कार्यालय पर जुटे हैं और अपना स्थापना दिवस मना रहे हैं। लॉकडाउन की अवधि बीतने एवं कोरोनावायरस का खतरा समाप्त होने के बाद कार्यकर्ता एकत्रित होंगे और हम भव्य कार्यक्रम करेंगे।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वह जहां कहीं भी अपने घरों में हैं वही पार्टी का ध्वज अपने घर पर लगाएं और भारत माता की जय कहें। इस दौरान जिलाध्यक्ष ने कोरोनावायरस से लड़ रहे योद्धाओं के प्रति सम्मान जाहिर किया और बूथ कार्यकर्ताओं से उनके सम्मान पत्र पर हस्ताक्षर करवाया। कार्यक्रम के दौरान शारीरिक दूरी बनाए रखने का ध्यान रखा गया। सभी कार्यकर्ताओं को दूरभाष से SMS व सोशल मीडिया के माध्यम से घर में रहने सुरक्षित रहने एवं कोरोना योद्धा का सम्मान करने को कहा। कार्यक्रम के दौरान जिला महामंत्री संजय झा, राम प्रसाद महतो, मिल्टन पार्थसारथी, मुकेश पांडे, मानस प्रसून, नरेंद्र त्रिवेदी आदि मौजूद थे।

40 साल पहले मुंबई में हुई भाजपा की स्थापना

केंद्र के साथ ही देश के ज्यादातर राज्यों में सत्ता संभाल रही भाजपा सोमवार को अपना 40 वां स्थापना दिवस मना रही है। भारतीय जनता पार्टी की जब स्थापना हुई तो उस समय शायद ही किसी ने भी सोचा होगा कि एक दिन पार्टी देश में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सत्ता संभाल रही होगी। 1980  के दशक में जब BJP का गठन हुआ और पार्टी ने एक राजनीतिक पार्टी के तौर पर पहला लोकसभा चुनाव लड़ा तो पार्टी के खाते में महज दो सीटें ही आई थी। इसके बावजूद BJP के नेताओं ने हिम्मत नहीं हारी। अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण अडवाणी से होते हुए आज पार्टी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही है। 6 अप्रैल, 1980 को BJP यानी Bharatiya Janata Party की स्थापना हुई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को BJP का पहला राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया। यहां से जो सफर शुरू हुआ वो आज शिखर पर है। चालीस साल के इतिहास में भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता तो इससे पहले भी हासिल की लेकिन आज की भाजपा इतिहास रच रही है। संघर्ष के दौर से निकल कर पार्टी आज सत्ता के शिखर पर है।

कोरोना संकट सत्ताधारी भाजपा और इसके लाखों कार्यकर्ताओं के समक्ष चुनाैती

कोरोना संकट की छाया में भारतीय जनता पार्टी में सोमवार को स्थापना दिवस मनाया। इस माैके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिए भारत के अब तक के प्रयासों ने दुनिया के सामने एक अलग ही उदाहरण प्रस्तुत किया है। भारत दुनिया के उन देशों में है जिसने कोरोना वायरस की गंभीरता को समझा और समय रहते इसके खिलाफ एक व्यापक जंग की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लंबी लड़ाई है और न इसमें थकना है और न ही हमें हारना है। कोरोना वायरस से जंग में भाजपा कार्यकर्ताओं को आगे बढ़कर काम करने का आह्वान करते हुए मोदी ने कहा कि दल से बड़ा देश। सेवा हमारे संस्कार में है। कोरोना के इस मुश्किल घड़ी में हमारा दायित्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है। धनबाद जिला भाजपा कार्यालय में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कोरोना प्रभावितों की मदद करने का संकल्प लिया।