क्राइम ब्रांच ने की तबलीगी जमात के मकरज में छापेमारी, फॉरेंसिक टीम की मदद से जुटाए गए सबूत

नई दिल्ली: फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) का पांच सदस्यीय दल रविवार को दक्षिण दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज पहुंचा और उसने वहां से तबलीगी जमात से जुड़ी वस्तुओं को इकट्ठा किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। एफएसएल, रोहिणी क्षेत्र निदेशक दीपा वर्मा,साइबर फॉरेंसिक प्रकोष्ठ, जीवविज्ञान,रसायन विज्ञान और फोटो डिवीजन के सदस्य मरकज पहुंचे और उन्होंने वहां मौजूद वस्तुओं को इकट्ठा किया।

सूत्रों ने बताया कि दल के सदस्य रक्षात्मक सूट पहने थे और उन्हें बाद में घरों में पृथक रहने को कहा जा सकता है। उन्होंने बताया कि इमारत पांच मंजिला है और इसमें दो भूतल हैं। इसके अंदर जूते रखने वाली कई अलमारियां मिली हैं। यहां किसी तरह का कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं मिला है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा का एक दल भी अपनी जांच के सिलसिले में मरकज गया था।

गौरतलब है कि निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के मौलाना साद के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 400 से अधिक मामले पिछले माह हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम से जुड़े लोगों के हैं। इसके अलावा संक्रमण से मरे 15 लोग ऐसे थे जो या तो जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे या उनके संपर्क में आए थे।