बैरक नंबर 12: नीरव, माल्या और चौकसी के लिए तैयार

मुंबई की आर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 12 आर्थिक अपराध में भगौड़े नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या के लिए तैयार है। अगर इन भगौड़ों का भारत प्रत्यार्पण होता है तो इन्हें इसी बैरक में रखा जाएगा। नीरव और माल्या अभी लंदन में हैं। नीरव लंदन की जेल में बंद है और माल्या के प्रत्यार्पण का केस अंतिम चरण में चल रहा है।  मेहुल चोकसी एंटिगुआ और बरबुडा में रह रहा है। उसने वहां की नागरिकता ले ली है।

ADVERTISEMENT

ऐसी है यह बैरक

सुविधाएं : जिस सेल में माल्या और नीरव को रखा जाएगा, उसमें गद्दा, तकिया, बेडशीट, लकड़ी का पलंग, पीने के लिए साफ पानी और मेडिकल सुविधा दी जाएगी। एक्सरसाइज के लिए रोज सेल से बाहर निकलने के लिए एक घंटा दिया जाएगा।

सुरक्षा : बैरक नंबर 12 के बाहर कई सीसीटीवी लगे हैं, जिनसे 24 घंटे निगरानी होती है। यहां एक प्रिजन अफसर और एक प्रिजन गार्ड हर समय मौजूद रहता है।

एक कमरे में पहले से हैं तीन कैदी, दूसरा खाली : बैरक नंबर 12 के एक कमरे में तीन कैदी पहले से मौजूद हैं। दूसरा कमरा खाली है। यदि प्रत्यर्पण होता है तो इस कमरे में माल्या, मोदी और मेहुल चोकसी को रखा जा सकता है।

तीनों के लिए एक ही कमरा

नीरव मोदी 
भारतीय मूल का हीरा व्यापारी। 13 हजार करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी। मामला उजागर होने के बाद से फरार है। 19 मार्च को स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने उसे लंदन में गिरफ्तार किया था।

मेहुल चौकसी
भारतीय व्यवसायी। पीएनबी घोटाले का आरोपी। मामला उजागर होने के बाद से फरार है। इस समय एंटिगुआ और बरबुडा की नागरिकता लेकर वहां रह रहा है।

विजय माल्या 
भारतीय व्यवसायी और शराब कारोबारी। 9000 करोड़ की बैंक देनदारियों और आर्थिक अनियमिताओं का आरोपी। लंदन से उसके प्रत्यर्पण का केस अंतिम चरण में है।

जज ने भी किया मजाक
नीरव मोदी की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान पिछले दिनों वेस्टमिंस्टर कोर्ट की चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बथनॉट ने भी यह सवाल किया था कि अगर नीरव का भारत प्रत्यर्पण होगा तो क्या उसे भी उसी बैरक में रखा जाएगा, जिसमें विजय माल्या को रखा जाना है। इस सवाल पर सभी हंसने लगे और कोर्ट का माहौल कुछ समय के लिए हल्का हो गया।