गुजरात: चक्रवात का खतरा हुआ कम, ‘वायु’ ने बदली अपनी दिशा, सौराष्ट्र तट की ओर मुड़ा

चक्रवात वायु आज गुजरात से टकरा सकता है। वायु के खतरे को देखते हुए एजेंसियां अलर्ट पर हैं। मौसम विभाग ने गुरुवार को जानकारी दी कि चक्रवात वायु गुजरात के वेरावल तट से टकराएगा लेकिन इसके खतरे का अनुमान थोड़ा कम हो गया है। विभाग ने जानकारी दी कि चक्रवात वायु ने अपनी दिशा बदल ली है। यह उत्तर-दक्षिण की तरफ मुड़ गया है। यह दक्षिण में 130 किमी और पोरबंदर से 180 किमी दक्षिण में है। विभाग के मुताबिक चक्रवात जब तट से टकराएगा तो 135-145 किमी प्रति घंटा रफ्तार से सौराष्ट्र तट के आसपास हवाएं चलेंगी।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 45 सदस्यों वाले राहत दल की करीब 52 टीमें गठित की गई हैं और सेना की दस टुकड़ियों को तैयार रखा गया है। इसके अलावा भारतीय नौ सेना के युद्धपोतों और विमानों को भी तैयार रहने को कहा गया है। गृह मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान हवा की रफ्तार 170 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। इसे देखते हुए दस जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। वायु, ‘अधिक खतरनाक’ श्रेणी में प्रवेश कर गया है।
प्रशासन ने की तैयारियां

  • चक्रवात वायु के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने कई तरह की व्यवस्था की हुई हैं। प्रशासन ने खाने के पैकेट भी तैयार किए हुए हैं, जिसे जरुरतमंदों को दिया जा सके।
  • जिला प्रशासन और एनडीआरएफ ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं-एनडीआरएफ का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372 है।
  • इसके अलावा चक्रवात वायु प्रभावित जिलों के हेल्पलाइन इस प्रकार हैं- जामनगर कंट्रोल रूम नंबर: 0288-2553404
  • द्वारका कंट्रोल रूम नंबर: 02833-232125
  • पोरबंदर कंट्रोल रूम नंबर: 0286-2220800
  • दाहोद कंट्रोल रूम नंबर: 02673-239277
  • नवसारी कंट्रोल रूम नंबरः 02637-259401
  • पंचमहल कंट्रोल रूम नंबर: +912672242536
  • छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम नंबर: +912669233021
  • कच्छ कंट्रोल रूम नंबर: 02832-250080
  • राजकोट कंट्रोल रूम नंबर: 0281-2471573
  • अरावली कंट्रोल रूम नंबर: +912774250221
  • चक्रवात वायु की वजह से पोरबंदर, दीव, भावनगर, केशोद और कांडला हवाई अड्डों पर गुरुवार रात 12 बजे से शुक्रवार रात 12 बजे तक उड़ानों का परिचालन बंद रहेगा।