सदन में सबको हंसाने वाले अठावले घर में इस तरह खुद को रख रहे हैं व्यस्त

सदन में अक्सर सबको अपनी कविताओं से मंत्रमुग्ध और हास्य सुनाने वाले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले खुद को व्यस्त रखने के लिए कई तरह के तरीके अपना रहे हैं। देश में कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए लागू 21 दिन के बंद के बीच आठवले इस समय का इस्तेमाल अपनी फिटनेस में सुधार लाने के लिए कर रहे हैं। इसके लिए वह साइकिल चला रहे हैं और ध्यान का सहारा ले रहे हैं।

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के नेता इस दौरान किताबें पढ़ने और अपने किशोर बेटे के साथ खेल कर समय व्यतीत कर रहे हैं। आठवले ने कहा, कि मेरी दिनचर्या में टहलना, साइकिल चलाना, आधे घंटे के लिए ध्यान लगाना और पढ़ना शामिल है। मैं रोजाना की ताजा जानकारी भी हासिल करता रहता हूं। उन्होंने कहा कि बंद में मैं अपने बेटे जीत के साथ रोजाना खेलता हूं। काफी लंबे समय के बाद मुझे उसके लिए समय मिला है।

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ने इस महीने की शुरुआत में लोगों का उत्साह बढ़ाने के लिए ‘ गो कोरोना गो’ के नारे भी लगाए थे। मंत्री ने अपने स्थानीय क्षेत्र विकास कोष से प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं राहत आपात स्थिति कोष में एक करोड़ रुपये देने की भी घोषणा की है। मंत्री ने महाराष्ट्र सरकार के राहत कोष में भी अपना दो महीने का वेतन देने का निर्णय लिया है।