लॉकडाउन में रामायण बना लोगों की पहली पसंद, हिंदू मुस्लिम परिवारों ने अपने-अपने घरों में उठाया आनंद

छतरपुर : काेरोना को लेकर देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन के बीच सरकार ने एक बार फिर दूरदर्शन पर 33 साल बाद धारावाहिक रामायण का प्रसारण शनिवार से शुरू कर दिया। रामायण के प्रसारण की घोषणा को लेकर हिंदू व मुस्लिम सारे वर्ग के लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। सभी अपने अपने घरों में परिवार और बच्चों के साथ बैठकर रामायण के पहले एपिसोड का आनंद लेते नजर आ रहे हैं। लोगों का मानना है कि और भी पुराने धारावाहिक महाभारत, टीपू सुल्तान चालू होने चाहिए

जानकारी के अनुसार, छतरपुर जिले में विजय बहादुर संजय ताम्रकार का परिवार सामूहिक रूप से धारावाहिक रामायण देखा। इस दौरान परिवार की 3 पीढियां (दादा-दादी, बेटा-बहू, पोते-पोतियां) बैठकर रामायण का आनंद लिया। वहीं दूसरा मामला एक मुस्लिम परिवार का है। जहां ज़हहर के जावेद अख़्तर फैमिली द्वारा रामायण धारावाहिक उनके परिवार बीबी-बच्चों सहित देखा गया। उनका मानना है कि हम बचपन में बजी यह धारावाहिक देखते थे और जैसे ही हमने जानकारी लगी कि आज से यह शुरू होने वाला है तो हमने पहले अपने बच्चों को इसके बारे में बताया कि कैसे हैम बचपन में देखा करते थे और इससे ख़या सिख मिलती थी।

वहीं उनकी बेटी लायब नूर ने हमसे बताया कि रामायण धारावाहिक हमने आज पहली बार देखा जो हमें बहुत अच्छा लगा कि जैसा कि हमारे मम्मी-पापा ने बताया हम लोग बचपन में देखते थे जो आज हमने भी देखा हमें बहुत ही अच्छा लगा हमें हिन्दू मुस्लिम छोड़कर इसे देखना होगा और मैं यह भी चाहूंगी कि और भी पुराने धारावाहिक जैसे- महभारत, टीपू सुलतान, जोधा अकबर, हम पांच, जैसे अन्य धारावाहिक भी शुरू होना चाहिये। साथ ही कोरोना वायरस से हम सबको मिलकर लड़ना होगा यह मजहब का नहीं देश का वक्त है हमें एक हवकर इससे लड़ना होगा।

बता दें कि 33 साल बाद धारावाहिक रामायण का प्रसारण शनिवार से शुरू कर दिया गया है। सुबह 9 बजे जैसे ही टीवी पर रामायण शुरू होने को आई उसके पहले ही लोग परिवार सहित TV के सामने ज़मकर बैठ गये। इस नज़ारे को देखकर 30-35 साल पुरानी हमारी बचपन की यादें ताज़ा हो गईं। एक समय था जब टीवी पर रामायण देखने के लिए पूरे शहर में कर्फ्यू सा लग जाता था। लोग महिलाएं घरों का काम-काज, दुकानें, सब बंद कर रामायण देखने में लग जाते थे। ठीक आज भी पूरे देश में लॉक डाउन है और कर्फ्यू जैसा माहौल है। यहां एक बार फिर रामायण के लिए लोगों में उसी तरह का क्रेज़ दिखाई दिया।

देश दुनिया में कोरोनो का संकट छाया हुआ और लगातार गहराता जा रहा है। जिस कारण से देश भर में लॉग डाउन किया गया है। प्रदेश में अब तक अब तक 800 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। केंद्र सरकार प्रदेश सरकार द्वारा लोगों से घर में रहने की अपील की जा रही है।

इसी बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को साफ किया कि जनता की मांग पर दूरदर्शन में शनिवार से सीधा प्रसारण होगा पहला एपिसोड शनिवार रामायण 9:00 बजे से और दूसरा रात 9:00 बजे दिखाया जाएगा। रामानंद सागर कृत रामायण का दूरदर्शन पर पहली बार प्रसारण 25 जनवरी 1987 में शुरू हुआ था और आखिरी एपिसोड 31 जुलाई 1988 को देखने को मिला था। सीरियल में राम का किरदार अरुण गोविल ने सीता का किरदार दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण का किरदार सुनील लहरी ने निभाया था। इसके निर्माता निर्देशक स्वर्गीय रामानंद थे।