कोरोना: भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 724 हुए, 17 लोगों की मौत… महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा

भारत में कोरोना वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 17 हो गई और संक्रमित मामले 724 पर पहुंच गए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सुबह नौ बजकर 15 मिनट पर अपने ताजा आंकड़ों में बताया कि महाराष्ट्र में चार लोगों की मौत हो गई जबकि गुजरात में तीन लोगों की मौत हुई है। कर्नाटक में अभी तक दो लोग जान गंवा चुके हैं जबकि मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में एक-एक शख्स की मौत हुई। आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के ऐसे मामलों की संख्या 640 है जिनमें रोगियों का उपचार चल रहा है जबकि 66 लोग या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई तथा एक व्यक्ति कहीं चला गया। मंत्रालय ने बताया कि संक्रमित लोगों के कुल 724 मामलों में 47 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने यह भी कहा कि भारत वायरस अभी दूसरे चरण में है क्योंकि अब भी इस बारे में बमुश्किल कोई सबूत है जो यह कहता हो कि तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस काकम्युनिटी हो रहा स्प्रेड हो रहा है। यह टिप्पणी किसी उम्मीद की किरण से कम नहीं है। हालांकि इस वायरस को भारत में ज्यादा फैलने से रोकने के लिए यहां के लोगों को भी केंद्र और राज्य सरकारों का साथ देना होगा। बता दें कि पूरी दूनिया में वायरस से संक्रमितों की संख्या 5 लाख 31 हजार से ज्यादा हो चुकी है, जबकि मरने वालों की संख्या 24 हजार से भी अधिक है। एक लाख 23 हजार से अधिक लोगों ने इस वायरस को हराते हुए नई जिंदगी पाई है।

वहीं कोरोना  संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जी-20 देशों के समूह से अपील की कि वैश्विक समृद्धि, सहयोग के लिए हमारे दृष्टिकोण के केन्द्र बिंदु में आर्थिक लक्ष्यों के स्थान पर मानव को रखा जाए। बता दें कि देश में 21 दिन का लॉकडाउन है और लोग यह समझने लग गए है कि इसमें उनकी ही भलाई है। देश में लॉकडाउन के बीच मोदी सरकार ने  गरीबों, बुजुर्गों, स्वयं सहायता समूहों और निम्न आग वर्ग को राहत देते हुए 1.70 लाख करोड़ रुपए की ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ की घोषणा की।