बागी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय हिरासत में, रिजॉर्ट के बाहर बैठे थे धरने पर

भोपाल/बेंगलुरु: मध्य प्रदेश में सियासत का पारा चढ़ा हुआ है। मध्य प्रदेश के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह बुधवार सुबह पार्टी के 16 बागी विधायकों से मिलने बेंगलुरु पहुंचे, लेकिन उन्हें यहां पुलिस ने रोक लिया और विधायकों से मिलने नहीं दिया। जिसके बाद दिग्विजय सिंह, डीके शिवकुमार समेत अन्य कांग्रेस नेता रमाडा रिजॉर्ट के बाहर धरने पर बैठ गए इसके बाद में पुलिस ने दिग्विजय सिंह को हिरासत में भी ले लिया।

दरअसल कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके 22 विधायकों और मंत्रियों को मनाने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह बेंगलुरु गए थे। लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया और रोक लिया। इस बीच विधायकों की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों से विवाद भी हुआ। दिग्विजय ने ट्वीट बहस का वीडियो भी किया जारी है।

दिग्विजय सिंह के पहुंचने पर पुलिस के आला अधिकारी भी होटल पहुंचे। उनके साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत ,सज्जन सिंह वर्मा, हर्ष यादव, सचिन यादव व कुणाल चौधरी, आरिफ मसूद भी थे। दिग्विजय ने ट्वीट करते हुए कहा है कि “मैं बेंगलुरु के रमादा होट्ल पहुंच गया हूं। पुलिस हमें रोक रही है” पुलिस नहीं जाने दे रही विधायकों से मिलने कांग्रेस विधायकों से मिलने से रोक रही है।

digvijaya singh

@digvijaya_28

कर्नाटक पुलिस हमें स्थानीय DCP ऑफ़िस लायी है।

हमारी माँग है कि BJP की क़ैद में रह रहे हमारे विधायकों से हमें मिलने दिया जाए।

जब तक हमारी मुलाक़ात अपने विधायकों से नहीं होगी, मैं अनशन की घोषणा करता हूँ।

हमारे देश में लोकतंत्र है, डिक्टेटरशिप नहीं।

392 people are talking about this

उन्होंने कहा कि जब तक हमारी मुलाक़ात अपने विधायकों से नहीं होगी, मैं अनशन की घोषणा करता हूं। हमारे देश में लोकतंत्र है, डिक्टेटरशिप नहीं। इसके बाद दिग्गी राजा को उनके नेताओं सहित पुलिस ने हिरासत में ले लिया। जिसका वीडियो भी जारी किया।