झारखंड: सेना का साजो-सामान ले जा रही ट्रेन बेपटरी, पूरा इलाका आर्मी के कब्‍जे में

रांची। भारतीय सेना की आर्म्‍स-एम्‍यूनेशन, टैंक लदी एक ट्रेन लातेहार जिले के बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड के टोरी जंक्‍शन के पूर्वी सिग्‍नल के पास लाइन बदलने के क्रम में सोमवार सुबह करीब पांच बजे बेपटरी हो गई। इसके बाद पूरे इलाके को जवानों ने सुरक्षा घेरा में ले लिया। मौके पर बड़ी संख्‍या में आर्मी और पुलिस के जवान मौजूद हैं। बताया गया है कि रांची से जा रही सेना की इस ट्रेन के साथ सुबह पांच बजे टोरी जंक्‍शन के पूर्वी सिग्‍नल के पास रेल लाइन बदलने के दौरान यह हादसा हुआ। रेलवे के कर्मी बेपटरी हुई ट्रेन को व्‍यवस्थि‍त करने में जुट गए हैं। इससे थोड़ी देर के लिए अप लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई है। रेल पदाधिकारियों के दिशा निर्देशन में क्षतिग्रस्त पटरियों को दुरुस्त करने का कार्य जारी है। रांची से दूसरी इंजन को टोरी के लिए रवाना कर दिया गया है। टोरी जंक्‍शन पर रेस्क्यू कार्य जारी है।

टोरी जंक्शन में प्रवेश के पूर्व मिलिट्री स्पेशल ट्रेन बेपटरी, हादसा टला

बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड के टोरी जंक्शन में प्रवेश के पूर्व आउटर सिग्नल के समीप मिलिट्री स्पेशल ट्रेन सोमवार की अहले सुबह बेटपरी हो गई। जानकारी के अनुसार 4:15 बजे टोरी जंक्शन के प्रवेश के पूर्व पोल संख्या 184/9 के समीप मिलिट्री स्पेशल ट्रेन की 15वीं और 16वीं बोगी बेपटरी हो गई। बेपटरी होने की सूचना के बाद टोरी रेल प्रबंधन हरकत में आया। टोरी टीआई शिवशंकर सिंह, रेल प्रबंधन के अशोक कुमार, एलएच अंसारी, सुभाष मिश्रा, दिनेश प्रजापति और अन्य रेल पदाधिकारियों के दिशा-निर्देशन में सैकड़ो रेल कर्मियों की टीम डिरेल हुई ट्रेन घटनास्थल पहुंची। बरवाडीह जंक्शन से एआरटी टीम को बुलाया गया। टोरी के अलावा बरवाडीह और अन्य स्टेशनों से वहां पहुंचे रेलकर्मियों की टीम द्वारा डिरेल हुए मिलिट्री स्पेशल ट्रेन की गिरी बोगियों 82130734567 और 8206896042 को पटरी पर लाने की कवायद जारी थी। समाचार लिखे जाने तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया था कि डिरेलमेंट होने की वजह क्या थी।

पटरी चेंज करने के दौरान बेपटरी हुई मिलिट्री स्पेशल ट्रेन की बोगियां

मिलिट्री स्पेशल ट्रेन पटरी चेंज करने के दौरान बेपटरी हुई। दक्षिण पूर्व रेल लाइन से पूर्व मध्य रेल लाइन में पटरी चेंज के दौरान ट्रेन बेपटरी हुई थी। दुर्घटनास्थल पर 8206896042 तब रूकी जब उसके आगे का पहिया पूरी तरह दो ज्वाइंटों के बीच फंस गया। पटरी चेंज करने के दौरान ट्रेन की गति भी धीमी थी, यदि ट्रेन अपने रफ्तार में होती तो बड़े हादसे से इंकार नहीं किया जा सकता था।

स्पेशल मिलिट्री ट्रेन के बेपटरी होने के बाद इलाके की घेराबंदी

स्पेशल मिलिट्री ट्रेन के बेपटरी होने के बाद दुर्घटनास्थल के आसपास के इलाके पूरी तरह स्पेशल मिलिट्री ने घेराबंदी कर दी। सुरक्षा को देखते हुए रेलकर्मियों को छोड़कर किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी जा रही थी। सुरक्षा की बात कहते मीडियाकर्मियों को भी फूटेज लेने से मना करने की अपील की जा रही थी।

युद्धस्तर पर जारी है राहत कार्य

स्पेशल मिलिट्री फोर्स और रेलवे के वरीय पदाधिकारियों के दिशा-निर्देशन में बेपटरी हुए ट्रेन की बोगियों को पटरी पर लाने के लिए युद्धस्तर पर कार्य जारी था। एक बोगी 82130734567 पटरी पर आ चुकी थी तो दूसरी बोगी 8206896042 को पटरी पर लाने का कार्य जारी था।

अप लाइन पर रेल परिचालन रहा बाधित

मिलिट्री स्पेशल ट्रेन के डिरेल होने के बाद अपलाइन पर परिचालन पूरी तरह बाधित हो गया। इसके कारण अप बीडीएम सवारी गाड़ी 5ः30 से महुआमिलान स्टेशन पर खड़ी थी। सासाराम-रांची एक्सप्रेस रीचुघुटा तो रांची-टोरी मेमो ट्रेन भी साउथ ईस्ट रेलवे के स्टेशन में रोक दिया गया था।

यात्रियों को हुई परेशानी

मिलिट्री स्पेशल ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने और कई ट्रेनों के टोरी जंक्शन नहीं पहुंचने के कारण रेल यात्रियों को परेशनी झेलनी पड़ी। यात्रा के लिए टोरी स्टेशन पहुंचे विनय विद्यार्थी, रामनंदन प्रसाद, सुजीत कुमार, विजय कुमार आदि ने बताया कि ट्रेन के डिरेल होने की जानकारी उन्हें नहंीं थी। काफी देर से वो ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं।

आरपीएफ की भी रही सराहनीय भूमिका

मिलिट्री स्पेशल ट्रेन के डिरेल होने की सूचना के बाद रेल पदाधिकारियों और कर्मियों के साथ आरपीएफ इंसपेक्टर केएन तिवारी, सब इंसपेक्टर रौशन कुमार और अन्य के साथ घटनास्थल पहुंचे और वस्तुस्थिति की जानकारी उच्चाधिकारियों को प्रेषित करते राहत कार्य में सहयोग प्रदान किया।

सेना के समान से लदी ट्रेन टोरी जंक्शन में प्रवेश के पूर्व बेपटरी

लातेहार के बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड के टोरी जंक्शन में प्रवेश के पूर्व आउटर सिग्नल के समीप भारतीय सेना का सामान लदी ट्रेन बेपटरी हो गई। जानकारी के अनुसार दक्षिण पूर्व रेल लाइन से पूर्व मध्य रेल लाइन में पटरी बदलने के दौरान ट्रेन बेपटरी हो गई। घटना के बाद ट्रेन पर सवार सेना के जवानों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली। जवानों की घेराबंदी के बीच रेलवे के वरीय पदाधिकारियों के दिशा निर्देशन में पटरी को दुरुस्त करने का कार्य जारी है।

 शक्ति सिंह के मुताबिक रांची से टोरी जा रही भारतीय सेना की एक मालगाड़ी डिरेल हो गई। हालांकि, इस दुर्घटना में किसी भी तरह की जान की क्षति नहीं हुई है। लूप लाइन में ट्रेन केडिरेल होने से अन्य ट्रेनों के आवागमन पर किसी भी तरह का प्रभाव नहीं पड़ा है। बताया गया है कि मालगाड़ी आर्मी की है, जिस पर टैंक लोड है। रांची से इंजन को टोरी के लिए रवाना कर दिया गया है। रेस्क्यू कार्य जारी है। घटना सुबह 5:00 बजे की है।

ट्रेन के बेपटरी होने की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप

सेना का सामान लेकर जा रही ट्रेन के बेपटरी होने की सूचना से ही प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। रेलवे अधिकारियों के अलावा स्थानीय प्रशासनिक पदाधिकारी भी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। बेपटरी हुई ट्रेन पर सेना का सामान लदे होने के कारण सुरक्षा व्यवस्था की चिंता को लेकर वरीय अधिकारी खासे परेशान नजर आए।

सेना का सामान देखने के लिए उमड़ी भीड़

टोरी जंक्शन के समीप सेना का सामान लेकर जा रही ट्रेन के बेपटरी होने की सूचना से ही बड़ी संख्या में लोग वहां जुट गए। रांची चतरा मुख्य मार्ग में रेलवे क्रॉसिंग से ट्रेन के बेपटरी होने का नजारा स्पष्ट रूप से देखने पर कई लोगों ने अपनी बाइक व कार की सड़क के किनारे खड़ी कर इस दृश्य को अपने मोबाइल कैमरे में कैद भी किया।

रेलवे ट्रैक पुलिस छावनी में तब्दील

सेना का सामान लेकर जा रही ट्रेन की बेपटरी होने की सूचना पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल के जवान मौके पर पहुंचे। सुरक्षा बल के जवानों ने आम लोगों को वहां से हटा दिया। इसके साथ ही चारों तरफ से ट्रेन की घेराबंदी करने के अलावा पूरी जंक्शन तक के रेलवे ट्रैक अपनी निगरानी में ले लिया।

युद्धस्तर पर जारी है कार्य

बेपटरी हुई ट्रेन को वापस रेलवे ट्रैक पर लाने और उसे गंतव्य तक रवाना करने के लिए रेलवे की ओर से युद्धस्तर पर कार्य जारी है।