पाक के समर्थन में आए सीताराम येचुरी, कश्मीर पर दिया ये बयान

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खतरे से निपटने को लेकर दक्षेस देशों के वीडियो कांफ्रेंस सम्मेलन में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर का मुद्दा उठाने के एक दिन बाद माकपा नेता सीताराम येचुरी ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान केवल यह चाहता था कि महामारी को फैलने से रोकने के लिए घाटी में भी सुविधाएं होनी चाहिए। उन्होंने माकपा मुख्यालय में कहा,‘सब कुछ इस पर निर्भर करता है कि क्या बातचीत हुई। मैं वहां उपस्थित नहीं था। मैंने जो पढ़ा यदि वह सच है तो पाकिस्तान ने केवल यह मुद्दा उठाया था कि कश्मीर घाटी में विषाणु से लड़ने की सुविधाएं होनी चाहिए।’

येचुरी ने भाजपा नीत केंद्र के उस कदम की आलोचना की जिसमें उसने विषाणु के खतरे से निपटने के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया निधि का उपयोग की अनुमति देने वाला अपना पत्र वापस ले लिया है। उन्होंने कहा कि सरकार को तुरंत इस कदम को वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा,‘भारत सरकार को सभी राज्यों की सहायता करनी चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि महामारी से लड़ने के लिए हर तरह की सुविधा तत्काल उपलब्ध हो। स्वास्थ्य के क्षेत्र में अधिक धन आवंटित करने की आवश्यकता है ताकि देश में उचित स्वास्थ्य देखभाल व्यवस्था बरकरार रहे।