मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए कोरोना का सहारा ले रही है सरकार: राजभर

वाराणसी: यूपी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री रह चुके सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। राजभर ने कहा है कि जनता का मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए सरकार कोरोना का सहारा ले रही है।

राजभर ने साफ साफ कहा कि बेरोजगारी, शिक्षा, महंगाई जैसे मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए और जब देश अंगड़ाई ले रहा कि नौजवान अपने अधिकार मांगने सड़क पर न आ जाएं तब सरकार कोई न कोई कोरोना पकड़कर ला रही है। उन्होंने ये भी दावा कर दिया कि अगला रविवार आते आते कोरोना खत्म हो जायेगा।

नेता पहले खुद पिएं गौमूत्र फिर दूसरों को पिलाएं
कोरोना पर सीएम योगी के हाथ जोडऩे के बयान पर ओमप्रकाश ने कहा कि उनको मना कौन कर रहा है? कहां गया गौमूत्र, गोबर और बाबा रामदेव? क्यों नहीं उन्हीं से ईलाज ढूंढ लेते? पहले खुद ये नेता गौमूत्र पी लें फिर सभी को पिलाएं। हमको कोरोना से डर नहीं है।

होली मिलन समारोह पर उठाया सवाल
होली मिलने के बहाने भाईचारे के संदेश पर भी सवाल उठाते हुए राजभर ने कहा कि हर साल हजारों होली मिलन समारोह हजारों साल से हो रहा है लेकिन उसके बावजूद हर साल हजारों लोग कत्लेआम भी कर दिए जा रहे हैं तो कहां भाईचारा और मिल्लत का संदेश जा रहा है। सभी नेता कमरे में बैठकर होली मिलने के बाद दारू-मुर्गा की पार्टी कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री पर बोला हमला 
भाजपा सरकार पर फिर से आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना से ज्यादा खतरनाक भाजपा सरकार है। जितना कोरोना से डर नहीं है, उतना भाजपा को पिछड़े, अल्पसंख्यक और दलितों से हैं। भाजपा पूरे देश को बर्बाद करने में लगी हुई है। जब पीएम मोदी गुजरात के सीएम होते थे तो मनमोहन सिंह से सवाल करते थे कि देश का रुपया डॉलर के मुकाबले गिर रहा है, लेकिन आज वे खुद पीएम हैं तो उनको ये सब नहीं याद आ रहा है। महंगाई चरम पर, प्याज दो सौ रूपया बिकवाया, गैस सिलेंडर 340 रूपया से बढाकर 900 रूपया कर दिया। यह सब पीएम को नहीं दिखाई दे रहा है?

भीम आर्मी चीफ के पार्टी बनाने पर क्या कहा?
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण का राजनैतिक पार्टी के गठन के सवाल के जवाब में ओपी राजभर ने कहा कि उन्होंने दिसंबर महीने में भागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया था जिसमें अन्य 7 पार्टियों के लोगों के साथ मिलकर लगातार रैली कर रहे हैं। इसी कड़ी में चंद्रशेखर को भी शामिल करने के लिए बात हो चूकी है। आगे इस मोर्चे में ओवैसी, तौकी रजा सहित अन्य को जोड़कर 403 सीटों पर चुनाव लड़कर सरकार बनाएंगे।