निर्भया केस: अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट (ICJ) पहुंचे दोषी, फांसी के खिलाफ लगाई अर्जी

नई दिल्ली: निर्भया के दोषियों ने फांसी से बचने का एक नया दांव चला है। फांसी के खिलाफ उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में (ICJ) अर्जी लगाई है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने उसकी एक याचिका ठुकरा दी जिसमें उसने अपनी पूर्व वकील वृंदा ग्रोवर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। इस याचिका में उसने अपने वकील एमएल शर्मा के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में फिर से क्यूरेटिव और दया याचिका दायर करने की अनुमति लेने के लिए याचिका दायर की है।

बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट चारों दोषियों (विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता, मुकेश सिंह और अक्षय) को फांसी देने के लिए डेथ वारंट जारी किया है। कोर्ट द्वारा जारी चौथे डेथ वारंट के मुताबिक आगामी 20 मार्च की सुबह 5:30 बजे चारों दोषियों को एक साथ फांसी की सजा दी जानी है।

3 मार्च को फांसी के लिए कर ली थी पूरी तैयारी 
निर्भया के दोषियों ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट, पटियाला हाउस कोर्ट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक खुद को बचाने के लिए हरसंभव कोशिश की। गत 3 मार्च को फांसी के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली थी। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने बताया कि पवन जल्लाद ने तिहाड़ में चारों दोषियों को डमी के जरिए फांसी का अभ्यास भी कर लिया था लेकिन बाद में कोर्ट ने इस पर रोक लगा दी।