CM हेमंत ने भाजपा को चेताया, झारखंड में मध्य प्रदेश वाला दांव महंगा पड़ेगा MP Political Crisis

रांची। मध्यप्रदेश में सत्तापक्ष में भाजपा की सेंधमारी को लेकर झारखंड में भी राजनीतिक सुगबुगाहट बढ़ गई है। हालांकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पूरी तरह आश्वस्त हैैं। बुधवार को राज्यसभा के लिए शिबू सोरेन का नामांकन पत्र दाखिल कराने विधानसभा पहुंचे हेमंत सोरेन से जब पूछा गया कि मध्यप्रदेश के बाद भाजपा की नजर राजस्थान और झारखंड पर है, तो उन्होंने भाजपा की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ दिखावे के लिए राजनीतिक शुचिता की बात करती है। भाजपा की ओर से लगातार गैर भाजपा सरकारों को अस्थिर करने की कोशिश हो रही है। झारखंड के मुद्दे पर उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि यहां भाजपा की इस तरह की कोशिश नहीं चलेगी। भाजपा चाहे तो आजमा कर देख ले। कहा, झारखंड की तरफ उन्हें आने तो दीजिए। उन्हें यहां दूसरा दृश्य दिखेगा। उन्होंने कहा कि हर राजनीतिक गतिविधि पर हमारी नजर है।

मध्यप्रदेश में राजनीतिक उथलपुथल पर बोले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा पर निशाना साधा है। हेमंत सोरेन ने मध्यप्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम पर कहा है कि भाजपा सिर्फ दिखावे के लिए राजनीतिक शुचिता की बात करती है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि जो पार्टी राजनीतिक शुचिता की बात करती है, वही पार्टी इन सब चीजों काे आगे बढ़ा रही है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आज की राजनीति का स्‍तर किस ओर जा रहा है। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखंड में ऐसी कोशिश करेंगे तो दूसरा ही दृश्य दिखेगा। उन्होंने पूरे आत्मविश्वास से कहा कि मेरी हर गतिविधि पर नजर है। कहा कि यह पहला उदाहरण नहीं है। देश की राजनीति में पहले भी ऐसे कई उदाहरण सामने आए हैं। इसकी मुख्य भूमिका में ज़्यादातर भाजपा ही रही है।

हर गतिविधि पर नजर, भाजपा की कथनी और करनी में अंतर

बता दें कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी छोड़ दी है। इसके बाद कांग्रेस के कई विधायकों ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इससे प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट गहरा गया है। झारखंड में भी महागठबंधन की सरकार है। झामुमो के साथ कांग्रेस और राजद ने मिलकर झारखंड में सरकार बनाई है। हेमंत सरकार में पद नहीं मिलने से कांग्रेस के कुछ नेता असंतुष्ट बताए जा रहे हैं।