यस बैंक संकट पर वित्त मंत्री का बयान- किसी खाताधारक का पैसा नहीं डूबेगा

नई दिल्लीः देश में प्राइवेट सेक्टर के बैंक यस बैंक संकट पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने खाताधारकों को भरोसा दिया है कि उनका पैसा डूबने नहीं दिया जाएगा। बैंक के खाताधारकों का पैसा सुरक्षित है। वित्त मंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक के अधिकारी समस्या का समाधान निकालने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि लगातार आरबीआई के टच में बनी हुई हैं। RBI गवर्नर तुरंत रिजॉल्यूशन प्लान लाने पर काम कर रहे हैं लेकिन फिलहाल इसकी डिटेल्स नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि यह कदम डिपॉजिटर्स के हित में उठाया गया है।

एटीएम से कैश निकालने की लिनिट तय किए जाने पर निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं आपको बता दूं कि स्वास्थ्य, विवाह और अन्य आपातकालीन मुद्दों के लिए अतिरिक्त राशि की आवश्यकता को पूरा करने के लिए कदम उठाए गए हैं।

यस बैंक मामले को लेकर एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की और कहा पैनिक करने की जरूरत नहीं है। हम लोग सिस्टम बना रहे हैं। ग्राहकों के जमा किए हुए पैसे पूरी तरह से सुरक्षित हैं। वोडाफोन के मुखिया ने भी वित्त मंत्री से मुलाकात की लेकिन मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया से बात करने से इनकार कर दिया।

गुरुवार को आरबीआई ने यस बैंक से 50,000 रुपए से ज्यादा रकम निकालने पर पाबंदी लगा दी है। कोई भी ग्राहक अपने अकाउंट से 50,000 से ज्यादा रकम नहीं निकाल सकता है। सरकार ने 5 मार्च से 3 अप्रैल के बीच तक यस बैंक पर यह पाबंदी लगाई है। अगर किसी ग्राहक के पास 4 अकाउंट है तो वह सभी खातों को मिलाकर भी सिर्फ 50,000 रुपए ही निकाल सकता है।