MP में BSP की दबंग विधायक रामबाई ने तोड़ी चुप्पी, बताई नाईट पाॅलिटिक्स के पीछे की पूरी कहानी

दमोह: मध्य प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की दबंग विधायक रामबाई सिंह गुरुवार को मीडिया से मुखातिब हुईं। इस दौरान उन्होंने मीडिया के अनेक सवालों के जवाब भी दिए। वहीं रामबाई ने सभी मामलों का पटाक्षेप करते हुए इस पूरे घटनाक्रम पर किसी का भी दोष नहीं होने की बात कही। रामबाई सिंह यह भी कहती नजर आई कि इस पूरे मामले पर कांग्रेस के मंत्रियों से जाकर पूछें।

इस दौरान दमोह जिले के पथरिया से बसपा की विधायक रामबाई सिंह दिल्ली से भोपाल होते हुए जबलपुर और फिर दमोह पहुंची। जहां रात को उन्होंने सच और झूठ को नहीं कहने की बात कही थी। वहीं गुरुवार को सुबह मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पहले मीडिया को जयवर्धन सिंह और जीतू पटवारी से बयान लेना चाहिए, कि वह क्यों उन्हें लेने होटल गए थे।

वहीं हाथापाई के मामले में रामबाई सिंह ने कहा कि दुनिया में कोई पैदा नहीं हुआ जो उन्हें हाथ लगा ले। राम बाई ने कहा कि वह हमेशा कमलनाथ जी के साथ हैं और हमेशा कमलनाथ जी के साथ रहेंगी। इस जन्म में ही नहीं अगले जन्म में भी कमलनाथ जी का साथ देंगी। दिल्ली जाने के सवाल पर रामबाई का कहना था कि वे अपनी बेटी से मिलने के लिए उसका इलाज कराने के लिए गई थी। बीजेपी के नेताओं से मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे राजनेता है और बीजेपी कांग्रेस के सभी नेताओं से मिलती रहती है. सीएम को मुझ पर भरोसा है।

दिग्विजय सिंह को भी उन पर भरोसा है। वह मुझे बेटी की तरह मानते हैं। आगामी दिनों में विधानसभा सत्र है। विपक्ष मजबूत है। ऐसे में आगामी कार्य योजनाओं पर यह घटना क्रम हो रहे हैं। राज्यसभा को लेकर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि राज्यसभा में किसको वोट देना है इसका निर्णय बसपा सुप्रीमो मायावती करेंगी क्योंकि बहन जी के निर्देश पर ही वे सब कुछ करती हैं। उनका ही निर्णय सर्वमान्य है। भूपेंद्र सिंह के साथ दिल्ली जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि क्या किसी के साथ जाना गुनाह है। जिस फ्लाइट से वे जा रही थी उसी फ्लाइट से वहीं जा रहे थे ऐसे में कुछ भी कयास लगा लेना ठीक नहीं है।

आगामी दिनों में विधानसभा सत्र है विपक्ष मजबूत है ऐसे में आगामी कार्य योजना पर यह घटना हुए। राज्य सभा में किसको वोट देना है इस बात का निर्णय बसपा सुप्रीमो मायावती करेंगी। क्योंकि बहनजी के निर्देश पर ही वे चलती हैं। बीजेपी पर लगाए जा रहे आरोप के बारे में राम बाई का कहना था कि बीजेपी का इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है। सभी आरोप निराधार हैं। मंत्री बनाए जाने के सवाल पर राम बाई का कहना था कि मंत्री कौन नहीं बनना चाहता यदि कमलनाथ जी मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे किसी को भी मंत्री बनाएंगे तो उन्हें विश्वास है कि उन्हें भी मंत्री बनाया जाएगा। कुल मिलाकर रामबाई सिंह राजनीतिक उठापटक के मामले में सच्चाई बताने से बच रही है।इस पूरे लंबे बयान में भी उन्होंने पूरे घटनाक्रम पर ना किसी को दोष दिया और ना ही किसी का रोल बताया।