कांग्रेस विधायकों को बंधक बनाने के सवाल पर शिवराज बोले- कांग्रेस अपने बोझ तले खुद ही दब गई

भोपाल: मध्यप्रदेश जारी सियासी उठापटक के बीच पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने दिग्विजय सिंह के विधायकों को होटल में बधंक बनाने के आरोपों को लेकर कहा कि दिग्विजय सिंह को इससे क्या लेना कि मैंने क्या किया। उनका एक ही काम केवल आरोप लगाना है। शिवराज सिंह ने कहा है कि कांग्रेस में गुटबाजी है और मारामारी मची हुई है और सरकार गिराने का आरोप पर हम पर लगाते हैं। हम ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है।

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

कांग्रेस सरकार अपना ही बोझ नहीं संभाल पा रही है और खुद के बोझ से ही उसकी सरकार चरमराकर गिर पड़े तो उसमें हम क्या कर सकते हैं? यह तो उनके घर का मामला है।

Embedded video

900 people are talking about this
शिवराज सिंह ने दिल्ली जाने के सवाल पर कहा कि मैं तो दिल्ली आता-जाता ही रहता हूं। मैं भाजपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हूं जब भी दिल्ली बुलाया जाता हैं, मै जाता हूं भारतीय जनता पार्टी के काम से जाता हूं। अभी पार्टी के काम से आ कर अब आगर जा रहा हूं। राज्यसभा के सवाल पर शिवराज ने कहा कि दिग्विजय सिंह लड़ेंगे या ज्योतिरादित्य लड़ेंगे या कौन लड़ेगा वहीं बता सकते है इसी चक्कर में यह सब कुछ हो रहा है। वही सरकार गिराने के सवाल पर कहा कि इसका सवाल ही पैदा नहीं होता।

भारतीय जनता पार्टी का ऐसी कोई सोच नहीं रही। हमने पहले भी कहा है हम ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है लेकिन अगर अपने बोझ से अगर कुछ होता है तो वह जाने। अभी हम आगर जा रहे हैं आगर उप चुनाव जीतना है। कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि पूरा प्रदेश त्राहि त्राहि कर रहा है किसान परेशान है रो रहा है गरीब परेशान है बच्चे परेशान हैं माताएं बहने परेशान है। कांग्रेस के विधायक खुद परेशान है। अब मामला उनके घर का है आरोप हम पर लगाते हैं यह कौन सी बात हुई।