कभी ट्रंप ने भी बनवाया था अपना ‘ताजमहल’, लेकिन नहीं बन पाए शाहजहां

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने सोमवार को प्रेम के प्रतीक ताजमहल का दीदार किया।  7वीं सदी के मुगल काल के मकबरे को देखकर वह आश्चर्यचकित रह गए। उन्होंने आगंतुक पुस्तिका में ताजमहल को ‘‘भारत की विविधतापूर्ण संस्कृति की धरोहर” करार दिया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि डोनाल्ड ट्रंप के पास खुद का भी एक ताजमहल था। हालांकि वह कभी शाहजहां नहीं बन सके।

दरअसल ट्रंप ने 30 साल पहले 1990 में अमेरिका के न्यूजर्सी में दुनिया का सबसे बेहतरीन ताजमहल कसीनो और रिजॉर्ट बनाया था, जिसे वह दुनिया का 8वां अजूबा भी कहते थे। करीब 24 सालों तक ट्रंप की कंपनी ने इस कसीनो को सफलता के साथ चलाया लेकिन 2014 में कई फाइनेंशियल दिक्कतें सामने आना शुरू हो गईं और इसे बंद करना पड़ा। 2016 में बंद हुए इस कसीनो को एक मार्च 2017 को सेमिनोल ट्राइब ऑफ फ्लोरिडा ने हार्ड रॉक इंटरनेशनल ब्रांड के अंतर्गत दोबारा शुरू किया।

जब सेमिनोल कंपनी के साथ इस ताज होटल को बेचने का करार हुआ, तो ट्रंप ने इसे आर्ट ऑफ डील बताया था। डील के वक्त ताजमहल होटल 25.19 हजार करोड़ रुपए के घाटे में था। इस होटल की देखरेख उनकी पैरेंटल कंपनी ट्रम्प इंटरटेनमेंट रिजॉर्ट्स के जिम्मे थी। तब यह कंपनी दिवालिया हो गई थी। बता दें कि ये कसीनो अपने आकार में भी अमेरिका के सबसे बड़े कसीनो में से एक है। करीब 15 हजार वर्ग मीटर में बने इस कसीनो में 1900 से ज्यादा कमरे हैं। हर कमरे की बनावट और साज-सज्जा ताजमहल की तर्ज पर की गई है।बता दें कि भारत दौरे में आए ट्रंप ने अपनी पत्नी, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर के साथ ताज परिसर का भ्रमण किया। टूरिस्ट गाइड ने उन्हें ताजमहल से जुड़े किस्सों की जानकारी दी। ट्रंप ने अपनी पत्नी मेलानिया के साथ पूरी दुनिया में प्रसिद्ध ‘डायना बेंच’ पर बैठकर यादगार तस्वीर भी खिंचवाई। यह पहली बार है कि जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी पत्नी के साथ तस्वीर खिंचवाई।ट्रंप की बेटी इवांका ने अपने पति जैरेड कुशनर के संग डायना बेंच के पास तस्वीर खिंचवाई।

ट्रंप परिवार लगभग एक घण्टे तक स्मारक में रहा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने पूर्वी गेट से ताजमहल में प्रवेश किया। फोरकोर्ट पर गोल्फ कोर्ट से उतरकर वे रॉयल गेट, गार्डन, सेण्ट्रल टैंक, चमेली फर्श, मुख्य मकबरे तक गए। लगभग डेढ़ किलोमीटर तक पैदल चलकर उन्होंने दुनिया के इस अजूबे को देखा। इस दौरान ट्रंप ने विजिटर बुक में अपनी टिप्पणी में लिखा, ‘‘ताजमहल भारत की विविध संस्कृति की धरोहर।”