ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP को नसीहत- मेरे लिए लड़ने की जरुरत नहीं

भोपाल: कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ से नाराजगी को लेकर विपक्ष को कड़े शब्दों में नसीहत दी है। उन्होंने मीडिया के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि विपक्ष को मेरे लिए लड़ने की जरूरत नहीं है। मैं अपने आप ही लड़ने में सक्षम हूं। दरअसल, सिंधिया और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह की आज गुना में बैठक होने जा रही है। इसी के सिलसिले में सिंधिया दिल्ली से भोपाल पहुंचे हैं।

इस दौरान जब मीडिया ने उनसे पूछा कि विपक्ष कह रहा है कि आप को दबाया जा रहा है इस पर चुप्पी तोड़ते हुए सिंधिया ने कहा विपक्ष को मेरे लिए लड़ने की जरूरत नहीं है मैं अपने आप ही लड़ने में सक्षम हूं और मैं प्रदेश की जनता के लिए पिछले 16-17 साल से लड़ रहा हूं। मैंने जो रास्ता चुना है वह जनसेवा का रास्ता चुना है और जन सेवा में हमें लोगों का मुद्दा उठाना जरूरी है और मैंने यही कहा कि अभी 1 साल हुआ है। सब्र रखना है हमारे वचन पत्र में जो भी लिखा है वह हम 5 साल में पूरा करेंगे और पूरा नहीं होता है तो हमें जनता के साथ खड़ा रहना होगा।

बता दें कि, सिंधिया की सरकार से नाराजगी के बाद विपक्ष की भूमिका निभा रही बीजेपी ने इस मुद्दे को खूब उछाला और महाराज के समर्थन में उतरने की बात कही। इतना ही नहीं भाजपा के पूर्व मंत्री और वर्तमान विधायक विश्वास सारंग ने तो कमलनाथ सरकार को चुनौती तक दे डाली। सारंग का कहना है कि अगर कांग्रेस में दम है तो वह ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर दिखाएं। कांग्रेस में योग्यता की कोई कदर नहीं है और जिस चेहरे के दम पर चुनाव लड़ा गया, उसी चेहरे की अनदेखी हुई है जो आज सड़क पर उतरने तक की बात कर रहा है।