शर्मनाक: दलित युवक के शव को घसीटते ले गई पुलिस, परिजनों के साथ की मारपीट

मुरैना: जिले में पुलिस का मानवता को शर्मसार करने वाला और अमानवीय चेहरा सामने आया है। यहां कानून के रखवालों ने एक दलित युवक के शव को पहले तो घसीटा और फिर पोस्टमार्टम के लिए ले गए। जब इसका परिजनों ने किया तो उल्टा पुलिस ने उनके साथ ही मारपीट शुरु कर दी। पुलिस ने मृतक युवक के परिजनों पर बर्बरतापूर्वक लाठी और डंडे बरसाए। वहीं मामला बढ़ता देख एसपी असित यादव ने पीएम हाउस पर अतिरिक्त पुलिस बल भेजकर कंट्रोल किया।

ये है पूरा घटनाक्रम

दरअसल, लोकसभा चुनाव की आचार संहिता खत्म होने के बाद लोग पुलिस द्वारा जब्त की गई बंदूक लेने आए दिन थाने पहुंच रहे है। इसी कड़ी में शनिवार को भी एक युवक जौरा थाने में अपनी जब्त लाइसेंसी बंदूक लेने गया था,तभी चेक करने के दौरान उससे फायर हो गया और गोली सीधे थाने से थोड़ी दूर पर बाइक से निकल रहे दलित युवक को पीछे से लगी और वह बाइक से गिर गया।आनन फानन में गंभीर घायल युवक को परिजन और पुलिस अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। जब मृतक युवक को पीएम हाउस लाया गया तो परिजनों ने विरोध कर जौरा में पीएम कराने की बात कही। परिजन मुरैना में पीएम कराने के लिए राजी नहीं हुए तो पुलिस शव को वाहन से घसीटकर पीएम हाउस तक ले गई। मृतक युवक के परिजनों ने जब पुलिस की इस करतूत का विरोध किया तो उनको भी लाठी और डंडों से पीटा।