नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की बदलेगी सूरत, एयरपोर्ट की तरह बनेगा ‘वर्ल्ड क्लास’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में लगातार रेलवे के कायाकल्प की कोशिशें चल रही हैं। रेलवे जंक्शन को नया रूप देने और यात्रियों के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में कई कदम उठाए जा रहे हैं। अगर हम पिछले कुछ समय में रेलवे द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों पर नज़र दौड़ाए तो कई बड़ी योजनाओं पर काम हुआ है। अब इस कड़ी में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का नाम भी जुड़ने वाला है जो जल्द ही एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जाएगा।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक रेलवे भूमि विकास प्राधिकरण (RLDA) और उत्तर रेलवे मिलकर पब्लिक-प्राइवेट-पार्टनरशिप (PPP) मॉडल पर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को नया रूप देने की दिशा में काम कर रही है। इसके लिए हांगकांग की फर्म के साथ परामर्श कर 6500 करोड़ रुपये की योजना का प्रारूप तैयार किया गया है। हालांकि इस प्रॉजेक्ट को पूरा होने में चार साल का वक्त लग सकता है। पहले चरण पर 110 एकड़ जमीन को विकसित किया जाएगा।

खबरों की मानें तो सरकार ने 50 रेलवे स्टेशन को खूबसूरत बनाने के लिए 50 हजार करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य रखा है। इस प्रॉजेक्ट में अडाणी, टाटा रियल्टी, एस्सेल ग्रुप जैंसी कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई है। माना जा रहा है कि रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जाएगा, जहां  पैसेंजर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग एंट्री और एग्जिट पॉइंट्स बनाए जाएंगे। इसके अलावा एयरपोर्ट की तरह एलिवेटेड एक्सेस रोड भी बनाए जाएंगे।  रेलवे स्टेशन पर बहुमंजिला पार्किंग की भी व्यवस्था होगी। साथ ही यात्रियों के लिए लॉन्, फूड कोर्ट और आकर्षक रेस्ट रूम की भी व्यवस्था होगी।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने इस प्रोजेक्ट की जानकारी देते हुए कहा कि नई दिल्ली स्टेशन पर रोजाना साढ़े चार सौ ट्रेनों के अलावा चार लाख से ज्यादा यात्रियों का आना-जाना रहता है। इसलिए यहां यातायात को रोके या डिस्टर्ब किए बगैर निर्माण कार्य करना एक बड़ी चुनौती है। इसलिए इसे दो-दो यार्ड व प्लेटफार्मो को बंद कर किया जाएगा।