MP में BJP का जातिगत समीकरण बिगड़ा, बड़े पदों पर ब्राह्मण, बदले जा सकते हैं गोपाल भार्गव

भोपाल: मध्य प्रदेश में खजुराहो से सांसद वीडी शर्मा को बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद शीर्ष पदों पर जातिगत समीकरण बिगड़ गया है। ताजा स्थिति यह है कि प्रदेश अध्यक्ष नेता प्रतिपक्ष और मुख्य सचेतक के पद पर ब्राह्मण नेता हैं। संगठन आने वाले दिनों में कुछ पदों पर बदलाव कर सकती है। इसमें नेता प्रतिपक्ष का पद सबसे पहले चर्चा में लिए जाने की तैयारी है। इस समय नेता प्रतिपक्ष और पार्टी के वरिष्ठ विधायक गोपाल भार्गव हैं।

वहीं नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की चर्चा के समय आलाकमान के सामने यह मुश्किल थी कि ब्राह्मण को ही कैसे प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए, इसीलिए अन्य विकल्पों पर विचार चल रहा था। विधायक दल के मुख्य सचेतक नरोत्तम मिश्रा और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा इसी कारण प्रदेशाध्यक्ष पद के लिए जोर लगाने से पीछे हट रहे थे, लेकिन वीडी शर्मा के नाम पर मुहर लगने से साफ हो गया है कि अब जल्द ही बदलाव होगा। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान किसी बड़ी जिम्मेदारी में आ सकते हैं।

वहीं निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि पार्टी नेतृत्व ने 10 दिन पहले बता दिया था कि मेरी भूमिका बदलने वाली है। प्रदेश अध्यक्ष का जिम्मा किसी और को दिया जाएगा। वीडी शर्मा के नाम की भी जानकारी दी गई। संगठन में रहते हुए प्रदेश स्तर पर 18 बड़े आंदोलन किए। जो जिम्मेदारी मिली, बखूबी निर्वहन किया। आगे भी पार्टी जो कहेगी, उसे ताकत के साथ पूरा करेंगे। ‘भास्कर’ ने सवाल किया कि क्या आपका विरोध था या खींचतान चल रही थी? सिंह ने कहा कि पार्टी में सभी निर्णय आमराय से होते हैं। विरोध और खींचतान की पार्टी में कोई जगह नहीं है। मुझसे भी नेतृत्व ने पूछा है।

बीजेपी ने प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर फिर ग्वालियर और चंबल पर ही भरोसा दिखाया है। शर्मा मुरैना के रहने वाले हैं और इस संसदीय सीट से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर सांसद हैं। तोमर का कहना है कि यह गौरव की बात है। शर्मा सभी को साथ लेकर पार्टी का विस्तार करेंगे। वे युवा, अनुभवी और जुझारू हैं। पार्टी उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है।

बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने साफ कर दिया कि वे पद संभालने के बाद से ही कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलेंगे। उन्होंने शनिवार को कहा कि कमलनाथ सरकार प्रदेश को गर्त में ले जा रही है। उसकी ईंट से ईंट बजाएंगे। संगठन के बीच तालमेल को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यह स्व. कुशाभाऊ जैसे पथ प्रदर्शकों और मेहनती लोगों की पार्टी है।

पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने जो जिम्मेदारी दी है, उसे ताकत के साथ ही आगे बढ़ाऊंगा। शर्मा ने यह भी कहा कि मुझसे पहले भी लोगों ने पार्टी को सींचा है और आगे बढ़ा रहे हैं। यही दायित्व मेरा होगा। भूमिका तय है, जिसका आगे निर्वहन होगा। प्रदेश के वरिष्ठों के साथ समन्वय और चुनौतियों पर कहा कि मैं तो सीखने की प्रक्रिया में हूं। सभी का न केवल मार्गदर्शन लूंगा, बल्कि उनसे चर्चा करके ही आगे की रणनीति पर काम होगा। बीजेपी विचारधारा और कैडर वाली सशक्त पार्टी है।