टूट की कगार पर सपा-बसपा गठबंधन! मायावती बोलीं-नहीं हुआ यादव वोट ट्रांसफर, लड़ेंगी अकेले उपचुनाव

लखनऊः बसपा अध्यक्ष मायावती ने लोकसभा चुनाव के परिणाम की समीक्षा के लिए सोमवार को उत्तर प्रदेश के पार्टी पदाधिकारियों और निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की बैठक बुलाई। बैठक में मायावती ने लोकसभा के नतीजों पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि गठबंधन से पार्टी को फायदा नहीं हुआ । इसके साथ ही मायावती ने उपचुनाव में अकेले ही मैदान में उतरने का फैसला किया है। जिससे कयास लगाए जा रहे हैं कि सपा-बसपा गठबंधन अब कुछ ही दिन या कुछ ही घंटों का रह गया है।

बीएसपी की बैठक में हार की समीक्षा के दौरान मायावती ने अपने जोनल को-ऑर्डिनेटरों से हर सीट का हिसाब लिया। हारने वाली सीटों की जानकारी लेते हुए मायावती ने कहा कि”गठबंधन हमने काफी सोच समझ कर किया था। हम अपने नफे नुकसान को जानते थे, लेकिन इस गठबंधन से हमें कोई फायदा नहीं हुआ। यादव वोट हमको ट्रांसफर नही हुए। यदि वोट मिलते तो यादव परिवार के अपने नहीं हारते। सपा के लोगों ने गठबंधन के खिलाफ़ काम किया। मुसलमानों ने हमारा पूरा साथ दिया है और हम आने वाले उपचुनाव की सभी 11 सीट पर चुनाव लड़ेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.