सुब्रह्मण्यम स्वामी की मोदी को चिट्ठी-कहा, SC के आदेश की जरूरत नहीं, जल्द शुरू हो राम मंदिर निर्माण

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल शुरू होते ही राम मंदिर के निर्माण जैसे लंबित मुद्दों को लेकर लोगों की अपेक्षाएं बढ़ गई हैं। यहां तक कि भाजपा के ही वरिष्ठ नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने भी प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर राम मंदिर निर्माण का काम जल्द से जल्द शुरू करवाने की अपील की है। स्वामी ने आज ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और राम जन्मभूमि के कानूनी पहलुओं को लेकर अपनी पुरानी राय जाहिर की।

पीएम को लिखी चिट्ठी में सुब्रह्मण्यम ने कहा कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट की अनुमति की दरकार है। उनको यह गलत कानूनी सलाह मिली है। नरसिम्हा राव ने उस जमीन का राष्ट्रीयकरण कर दिया था और अनुच्छेद 300 के तहत सुप्रीम कोर्ट कोई सवाल नहीं उठा सकता है, सिर्फ मुआवजा तय कर सकता है इसलिए अभी से निर्माण शुरू करने में सरकार के सामने कोई बाधा नहीं है। पी.एम. को लिखे अपने 4 पन्नों के पत्र में स्वामी ने रामसेतु को प्राचीन स्मारक एवं पुरातात्विक स्थल तथा अवशेष अधिनियम 1958 के तहत राष्ट्रीय पौराणिक स्मारक की मान्यता देने की भी अपील की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.